चंडीगढ़ छेड़छाड़ मामले में आरोपी विकास बराला को हाईकोर्ट से मिली जमानत

0

चंडीगढ़ में आईएएस अधिकारी की बेटी वर्णिका कुंडू से छेड़छाड़ मामले में गिरफ्तार किए गए मुख्य आरोपी विकास बराला को पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट से जमानत मिल गई है। आपको बता दें कि विकास बराला हरियाणा के भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला का बेटा है। विकास बराला करीब 5 महीनों के बाद जेल से बाहर आएगा।

FILE PHOTO: The Indian Express

पीड़िता वर्णिका कुंडू का कथित रूप से पीछा करने के आरोप में पिछले साल 5 अगस्त 2017 को विकास बराला (23) और उसके दोस्त आशीष कुमार (22) को गिरफ्तार किया गया था। इस मामले को लेकर सड़क से लेकर संसद तक जमकर हंगामा हुआ था।

विकास बराला ने हाईकोर्ट का रुख करने से पहले ट्रायल कोर्ट में जमानत याचिका लगाई थी, लेकिन उसे कोर्ट द्वारा खारिज कर दिया गया था। विकास बराला और उसके दोस्त आशीष को हाइप्रोफाइल छेड़छाड़ प्रकरण में पिछले साल 9 अगस्त 2017 को चंडीगढ़ पुलिस ने गिरफ्तार किया था।

क्या है पूरा मामला? 

दरअसल, 4 अगस्त 2017 की देर रात करीब 12 बजे हरियाणा में आईएएस अधिकारी की बेटी वर्णिका कुंडू ने हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला पर छेड़छाड़ और पीछा करने का आरोप लगाया था। लड़की का आरोप है कि विकास बराला और उसका दोस्त आशीष कुमार एक पेट्रोल पंप से ही उनकी कार का पीछा कर रहे थे और कार का दरवाजा खोलने की कोशिश की।

पीड़ित लड़की का आरोप है कि उसके द्वारा कई बार फोन करने पर पुलिस वहां पहुंची और दोनों लड़कों को गिरफ्तार कर लिया। मगर गिरफ्तारी के कुछ घंटों बाद ही उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया। थाने से आरोपियों को जमानत मिलने की खबर सोशल मीडिया पर आग की तरह फैल गई।

लोगों ने बीजेपी और आरोपी युवकों के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली। इसके बाद साहसी लड़की और उसके पिता भी खुलकर मीडिया के समक्ष आ गए और उन्होंने ने भी कमजोर धाराओं को लेकर सवाल उठाए। पुलिस के सीसीटीवी कैमरे की फुटेज गायब होने से पुलिस की किरकिरी बढ़ गई और हरियाणा के बीजेपी अध्यक्ष पर विरोधी दलों ने इस्तीफे का दबाव बनाना शुरू कर दिया।

जब चारो तरफ से पुलिस की किरकिरी होने लगी और उनकी कारगुजारी पर सवाल उठने लगे तो आखिरकार पुलिस ने 9 अगस्त को इस मामले में गैर जमानती धाराएं जोड़कर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। अपनी फेसबुक पोस्ट में पीड़ित युवती ने लिखा था, ‘ऐसा लग रहा है कि मैं सौभाग्यशाली हूं कि मैं आम आदमी की बेटी नहीं हूं… मैं इसलिए भी खुशकिस्मत हूं कि न तो मेरा रेप हुआ और न ही मैं मरी हुई पाई गई।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here