केजरीवाल के मंत्री सत्येंद्र जैन को विदेश मंत्रालय से नहीं मिली ऑस्ट्रेलिया जाने की इजाजत, AAP भड़की

0

दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार और केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के बीच एक बार फिर तनातनी बढ़ गई है। ताजा मामले में केजरीवाल सरकार ने आरोप लगाया है कि केंद्र की मोदी सरकार ने कथित तौर पर दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के नेतृत्व में प्रतिनिधि मंडल को ऑस्ट्रेलिया जाने की अनुमति देने से इनकार कर दिया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, केंद्र की ओर से इसका कारण राजनीतिक बताया गया है। वहीं, विदेश मंत्रालय के इस फैसले से दिल्ली में सत्ताधारी आम आदमी पार्टी (आप) और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल नाराज हो गए हैं।

फरीदकोट

रिपोर्ट के मुताबिक स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन का पांच दिन का ऑस्ट्रेलिया दौरा नामंजूर करने को लेकर विदेश मंत्रालय की तरफ से कहा गया है कि विदेश मंत्रालय की ए पॉलीटिकल क्लीयरेंस पॉलीटिकल एंगल से मंत्रालय से खारिज कर दी गई है। सत्येंद्र जैन की तरफ से विदेश मंत्रालय से सोमवार 26 नवंबर से 30 नवंबर तक के लिए ऑस्ट्रेलिया में यूनिवर्सल हेल्थ केयर और पब्लिक हेल्थ के क्षेत्र में चर्चा के लिए जाने की पॉलीटिकल क्लीयरेंस मांगी थी।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने विदेश मंत्रालय द्वारा कथित तौर पर अनुमति न दिए जाने पर ट्वीट कर कहा है कि मोदी सरकार ने आखिर मंजूरी क्यों नहीं दी और यह पॉलिटिकल एंगल क्या है? वहीं, सत्येंद्र ने कहा है कि मैं विदेश मंत्रालय के पॉलीटिकल एंगल के पीछे का असली मतलब जानना चाहता हूं।

केजरीवाल के मंत्री सत्येंद्र जैन को सिडनी में यूनिवर्सिटी ऑफ मेलबर्न एंड जॉर्ज इंस्टीट्यूट के निमंत्रण पर 26 से 30 नवंबर तक आस्ट्रेलिया दौरे पर जाना था। इस दौरान वहा के संस्थानों में मोहल्ला क्लीनिक और स्वास्थ्य क्षेत्र में आए बदलाव पर संवाद करना था। दिल्ली सरकार ने केंद्र पर आरोप लगाया है कि वह सीएम केजरीवाल के अच्छे कामों से इतना डरते हैं कि उन्हें दुनियाभर में अपना अच्छा काम दिखाने भी नहीं जाने देना चाहते।

आम आदमी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा कि दिल्ली सरकार के मंत्री को ऑस्ट्रेलिया सरकार ने स्वास्थ्य सेवा को लेकर हुए बदलावों और मोहल्ला क्लिनिक के बारे में चर्चा करने के लिए बुलाया था, लेकिन केंद्र सरकार ने छोटी राजनीति के तहत उनके दौरे को इजाजत नहीं दी। उन्होंने कहा कि कोई भी राजनीतिक दल ऐसी हरकत नहीं करता है, लेकिन केंद्र की मोदी सरकार दिल्ली में आम आदमी पार्टी सरकार से डरी हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here