CBI ने रिश्वत लेने के आरोप में अपने दो कर्मचारियों को निलंबित किया, दो अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की अनुशंसा की

0

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने बैंक धोखाधड़ी करने की आरोपी कंपनियों के खिलाफ जांच में कथित तौर पर समझौता करने के वास्ते रिश्वत लेने के मामले में अपने चार कर्मियों के खिलाफ मामला दर्ज करने के कुछ दिन बाद उनमें से दो – निरीक्षक कपिल धनखड़ और स्टेनोग्राफर समीर कुमार सिंह को निलंबित कर दिया है और शेष दो के खिलाफ प्रशासनिक कार्रवाई की अनुशंसा की है।

सीबीआई

समाचार एजेंसी पीटीआई (भाषा) की रिपोर्ट के मुताबिक, अधिकारियों ने शनिवार को कहा कि एजेंसी ने कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग को पुलिस उपाधीक्षकों आर के ऋषि और आर के सांगवान के खिलाफ प्रशासनिक कार्रवाई करने की सिफारिश की है। उन्होंने बताया कि कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग सीबीआई के लिए नोडल मंत्रालय है।

आठ पेजों वाली एफआईआर में लगाए गए आरोपों के अनुसार निरीक्षक धनखड़ ने सांगवान और ऋषि से रिश्वत के पैसे लिए, जो श्री श्याम पल्प एंड बोर्ड मिल्स के पक्ष का अनुरोध कर रहे थे, ये कंपनी 700 करोड़ रुपये के बैंक धोखाधड़ी मामले में, और फ्रोस्ट इंटरनेशनल 3,600 करोड़ रुपये के बैंक धोखाधड़ी मामले में आरोपी है।

सीबीआई ने अपने चार कर्मियों के खिलाफ मामला दर्ज किया हैं इसके अलावा दो वकीलों ,श्री श्याम पल्प और बोर्ड मिल्स के अतिरिक्त निदेशक मनदीप कौर ढिल्लों और फ्रोस्ट इंटरनेशनल के निदेशक सुजय देसाई और उदय देसाई के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

बता दें कि, सीबीआई की टीम ने अभी हाल ही में इस मामले को लेकर नई दिल्ली स्थित अपने मुख्यालय में अपने स्वयं के कुछ अधिकारियों से जुड़े परिसरों में तलाशी ली थी। इसके अलावा सीबीआई ने गाजियाबाद, नोएडा और दिल्ली में कई सीबीआई अधिकारियों के घर पर भी छापेमारी की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here