सीबीआई के नए अंतरिम डायरेक्टर की पत्नी ने कंपनी को दिए 1.14 करोड़ रुपये

0

इस समय देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) खुद सवालों के घेरे में आ गई है। सीबीआई के दो सीनियर अधिकारी एक दूसरे के ऊपर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए हैं। सीबीआई में आतंरिक कलह के मद्देनजर मोदी सरकार ने अभूतपूर्व कदम उठाते हुए सीबीआई निदेशक आलोक कुमार वर्मा और विशेष निदेशक राकेश अस्थाना को छुट्टी पर भेज दिया है। वहीं संयुक्त निदेशक एम नागेश्वर राव को तत्काल प्रभाव से अंतरिम निदेशक नियुक्त कर दिया है। ओडिशा कैडर के 1986 बैच के आईपीएस अधिकारी राव ने पदभार संभाल लिया है।

केंद्र सरकार ने सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा और विशेष निदेशक राकेश अस्थाना के बीच उपजे विवाद के बाद नागेश्वर राव को अतंरिम निदेशक बनाया है। इस बीच रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज (आरओसी) के दस्तावेजों से खुलासा हुआ है कि नागेश्वर राव की पत्नी एम संध्या और कोलकाता स्थित ट्रेडिंग कंपनी एंजेला मर्कन्टाइल प्राईवेट लिमिटेड (एएमपीएल) के बीच वित्त वर्ष 2011 से 2014 के दौरान कई बार पैसे का लेनदेन हुआ है। एएमपीएल कोलकाता बेस्ड ट्रेडिंग कंपनी है।

अंग्रेजी अखबार ‘द इंडियन एक्सप्रेस’ की खबर के मुताबिक, रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज के रिकॉर्ड के मुताबिक नागेश्वर राव की पत्नी एम संध्या ने मार्च 2011 में एएमपीएल कंपनी से 25 लाख रुपए कर्ज लिए थे। इसके बाद संध्या ने इस कंपनी को 2012 से 2014 वित्त वर्ष के दौरान सालाना तीन किश्तों में 1.14 करोड़ रुपये लोन के रूप में दिया था। तीन साल में दी गई यह राशि 35.56 लाख, 38.27 लाख, 40.29 लाख रुपये है।

अखबार के मुताबिक, वित्तीय वर्ष 2012 से 2014 के बीच संध्या ने तीन बार वर्ष 2012 में 35.56 लाख, वर्ष 2013 में 38.27 लाख और वर्ष 2014 में 40.29 लाख रुपए कंपनी को दी। अारओसी की सूची में कोलकाता के रहने वाले प्रवीण अग्रवाल एएमपीएल के डॉयरेक्टर के रूप में नामित हैं। प्रवीण ने इंडियन एक्सप्रेस से फोन पर कहा, “संध्या हमारे पारिवारिक मित्र राव की पत्नी हैं। मैं राव को तब से जानता हूं, जब वे ओडिशा में अधिकारी थे। वे हमारे परिवार जैसे हैं। यदि आप किसी को पारिवारिक मित्र के तौर पर मानते हैं, तो उससे किसी तरह का कर्ज या निवेश लेने में परेशानी क्या है?”

वहीं, राव की पत्नी और एएमपीएल के बीच वित्तीय लेनदेन के सवाल के इंडियन एक्सप्रेस ने एक सीबीआई प्रवक्ता से बात करने की कोशिश की तो उन्होंने किसी तरह की टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। इंडियन एक्सप्रेस की टीम शुक्रवार और शनिवार को एएमपीएल के रजिस्टर्ड ऑफिस CA, 39 सॉल्टलेक कोलकाता पहुंची, जहां सुरक्षाकर्मी और केयरटेकर ने इस बात की पुष्टि की है कि कि यह बिल्डिंग अग्रवाल का आवास है। सुरक्षाकर्मी ने शुक्रवार को बताया, “यहां कोई ऑफिस नहीं है। यह एक आवासीय बिल्डिंग है। केयरटेकर आलोक मंडल ने शनिवार को बताया, “यहां अभी कोई परिवार नहीं रह रहा है।”

 

 

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here