उन्नाव गैंगरेप केस: आरोपी BJP विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को CBI ने किया गिरफ्तार

0

उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले की बांगरमऊ विधानसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने गिरफ्तार कर लिया है।

(Indian Express photo by Vishal Srivastav)

बता दें कि, इससे पहले शुक्रवार(13 अप्रैल) को तड़के सीबीआई ने कुलदीप सिंह सेंगर को उनके आवास से हिरासत में लिया था। हिरासत के बाद विधायक को हजरतगंज स्थित सीबीआई कार्यालय में ले जाया गया, जहां उनसे घंटों पूछताछ हुई। बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को अब सीबीआई शनिवार(14 अप्रैल) को अदालत में पेश करेगी।

बता दें कि, इलाहाबाद हाइकोर्ट ने शुक्रवार(13 अप्रैल) को ही सीबीआई को फटकार लगाते हुए कहा था कि कि आरोपी की हिरासत काफी नहीं है, उसे तुरंत गिरफ्तार किया जाना चाहिए। बता दें कि, सीबीआई बीजेपी विधायक पर लगे रेप के आरोप, पीड़िता के पिता की हत्या, युवती के पिता पर दर्ज आर्म्स ऐक्ट के मामले की जांच में कर रहीं है। अदालत ने साथ में राज्य सरकार से 2 मई तक प्रगति रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा था।

बता दें कि, इससे पहले गुरुवार को हाईकोर्ट ने इस मामले में आरोपी विधायक के खिलाफ कार्रवाई न होने पर कड़ा रुख अपनाते हुए कहा था कि वह अपने आदेश में राज्य में कानून व्यवस्था चरमराने का जिक्र करने को मजबूर होगी।

वहीं, महिलाओं के खिलाफ अपराध के मामलों को लेकर सरकार पर तेज हो रहे विपक्ष के हमलों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि ऐसी घटनाएं निश्चित तौर पर सभ्य समाज के लिये शर्मनाक हैं और इन मामलों में कोई भी अपराधी नहीं बचेगा, न्याय होकर रहेगा।

बता दें कि उत्तर प्रदेश शासन से आदेश जारी होने के बाद विधायक के खिलाफ आईपीसी की धारा 363 (अपहरण), 366 (अपहरण कर शादी के लिए दवाब डालना), 376 (बलात्‍कार), 506 (धमकाना) और पॉस्‍को एक्‍ट के तहत मामला दर्ज किया है। SIT की शुरुआती रिपोर्ट के बाद कुलदीप सेंगर के खिलाफ बुधवार (11 अप्रैल) को FIR का फैसला लिया गया।

क्या है पूरा मामला?

उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले में बीजेपी विधायक और अन्य पर एक महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म करने का आरोप है। अपने साथ हुए अपराध के मुद्दे को उठाने के लिए लड़की ने मुख्यमंत्री आवास के सामने आत्महत्या की कोशिश की। जिसके बाद कथित तौर पर उसके पिता को पुलिस ने उठा लिया। आरोप है कि उनकी बर्बर तरीके से पिटाई की गई और हिरासत में ही उनकी मौत हो गई। बताया जा रहा है कि मृतक के शरीर में कई घाव पाए गए थे। पीड़ित परिवार ने पुलिस हिरासत में मारपीट का आरोप लगाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here