मेवाड़ राजघराना करेगा ‘पद्मावती’ पर फैसला, फिल्म दिखाने के लिए संेसर बोर्ड ने भेजा न्योता

0

सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेट (सीबीएफसी) के प्रमुख प्रसून जोशी ने गुरुवार को मेवाड़ राजघराने के विश्वराज सिंह को पद्मावती देखने का न्योता भेजा है। पद्मावती’ पर विवादों को खत्म करने के लिए सेंसर बोर्ड ने एक 6 सदस्यों की कमिटी बनाई है। इस कमिटी में इतिहासकारों के अलावा राजघराने के लोगों को भी शामिल किया गया है।

इस कमेटी में उदयपुर से पूर्व राजघराने के अरविंद सिंह मेवाड़ को भी शामिल किया गया है। सभी सदस्य फिल्म को लेकर यह फैसला लेंगे कि पद्मावती को रिलीज किया जाए या नहीं। यह फिल्म अगले साल मार्च तक रिलीज होने की संभावना है।

मीडिया रिपोर्टस की मानें तो इन लोगों के लिए फिल्म की स्पेशल स्क्रीनिंग गुरुवार को या 7 जनवरी को रखी जा सकती है। ये सभी सदस्य मिल कर फैसला लेंगे कि फिल्म को कब रिलीज़ किया जाना चाहिए या फिर रिलीज़ किया जाना चाहिए या नहीं।

आपको बता दे कि कई राजपूत संगठनों का आरोप है कि फिल्म के निर्माता-निर्देशक संजय लीला भंसाली ने ऐतिहासिक तथ्यों के साथ छेड़छाड़ की है जिस वजह से वह फिल्म का लगातार विरोध कर रहे हैं। पहले इस फिल्म को 1 दिसंबर को रिलीज किया जा रहा था। फिल्‍म के ऊपर बैन लगाने को लेकर भी कई याचिकाएं दर्ज की गईं।

पद्मावती को लेकर 30 नवंबर के दिन संसद में भी चर्चा हुई थी जिसमें डायरेक्टर संजय लीला भंसाली को संसद की एक समिति के सामने पेश हुए थे। फिल्म पद्मावती में दीपिका पादुकोण ने रानी पद्मावती की भूमिका निभाई है। वहीं, रणवीर सिंह और शाहिद कपूर अहम भूमिका में हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here