कावेरी जल विवाद : तमिलनाडु में व्यापारी संगठनों द्वारा बंद , हजारों पुलिसकर्मी तैनात

0

कावेरी विवाद के मद्देनजर कई किसानों एवं व्यापारी संगठनों द्वारा आहूत एक दिवसीय बंद आज तमिलनाडु में शुरू हो गया. द्रमुक समेत विपक्षी दल इस बंद का समर्थन कर रहे हैं।

भाषा की खबर के अनुसार, बंद का आह्वान करने वालों ने कहा है कि ‘सड़क एवं रेल रोको’ समेत कई विरोध प्रदर्शन होंगे. इसके चलते कानून और व्यवस्था बनाए रखने के लिए राज्यभर में हजारों पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं.

Also Read:  इस 19 साल की लड़की ने घूम-घूमकर खड़ी की 70 हज़ार डॉलर की कंपनी, जानिए कैसे

पुलिस ने कहा कि इस दौरान कड़ी निगरानी की जा रही है और सार्वजनिक शांति भंग करने या सड़क एवं रेल परिवहन की स्वतंत्र आवाजाही में किसी भी प्रकार की बाधा उत्पन्न करने की कोशिशें नहीं करने दी जाएंगी. आमतौर पर सुबह होते ही खुल जाने वाली किराने की स्थानीय दुकानें विरोध के मद्देनजर बंद रहीं.

राज्य परिवहन निगम द्वारा संचालित बसों के अलावा ट्रेनें सामान्य रूप से चल रही हैं, लेकिन ऑटो, टैक्सी और वाणिज्यिक माल ढोने वाले वाहन सड़कों से नदारद रहे.

Also Read:  Gujarat and Karnataka lift ban on Maggi noodle

राज्य के लिए कावेरी के जल की मांग करने और कर्नाटक में तमिल लोगों को निशाना साधकर की गई हिंसा के विरोध में बंद का आह्वान किया गया है. सत्तारूढ़ अन्नाद्रमुक, उसके सहयोगियों एवं उससे संबद्ध श्रमिक संघों को छोड़कर द्रमुक, तमिलनाडु कांग्रेस, डीएमडीके, एमडीएमके, वाम दलों और पीएमके समेत अन्य सभी विपक्षी दलों ने बंद का समर्थन किया है.

Also Read:  Watch: Boy deprived of help dies after mishap, bystanders click pics

तमिलनाडु में सशस्त्र रिजर्व बलों समेत हजारों पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं और चेन्नई में 15,000 पुलिसकर्मी ड्यूटी पर हैं. कर्नाटक से जुड़े व्यापारिक प्रतिष्ठानों, स्कूलों, संस्थाओं और कृष्णगिरि जिले समेत जिन इलाकों में कन्नड़ भाषी लोग रहते हैं, वहां सुरक्षा मुहैया कराई जा रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here