लोकसभा चुनाव 2019: साम्प्रदायिक टिप्पणी को लेकर कांग्रेस नेता नवजोत सिंह के खिलाफ केस दर्ज

0

अपने बयानों की वजह से अक्सर सुर्खियों में रहने वाले पूर्व भारतीय क्रिकेटर और पंजाब की कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार में कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ बिहार के कटिहार में चुनावी रैली के दौरान आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन का केस दर्ज किया गया है। सिद्धू ने मंगलवार को कटिहार में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए मुस्लिमों से एकजुट होकर कांग्रेस के पक्ष में वोट देने की अपील की थी।

नवजोत सिंह सिद्धू
फाइल फोटो: नवजोत सिंह सिद्धू

समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक कटिहार रैली में नवजोत सिद्धू ने कहा था, ‘मैं आप सबको चेतावनी देने आया हूं मुस्लिम भाइयों। ये बांट रहे हैं आपको। ये यहां पर ओवैसी जैसे लोगों को ला के एक नया पार्टी साथ मैं खड़ी कर आप लोगों की वोट बांटकर जीतना चाहते हैं। अगर तुम लोग इकट्ठे हुए और एकजुट होकर वोट डाला, तो सब पलट जाएंगे, मोदी सुलट जाएगा।’ सिद्धू कटिहार में पूर्व केन्द्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता तारिक अनवर के पक्ष में प्रचार करने के लिए गए थे।

नवजोत सिंह सिद्धू के इस बयान के बाद आदर्श आचार संहिता के नोडल अधिकारी अमित कुमार पांडेय ने इसका संज्ञान लेते हुए स्थानीय अधिकारी से भाषण की सीडी मांगी थी। वहीं, बीजेपी ने भी सिद्धू के बयान पर आपत्ति जताते हुए चुनाव आयोग के उनके खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की थी।

बिहार के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एच. आर. श्रीनिवास ने पीटीआई (भाषा) को बताया कि, ‘जन प्रतिनिधि कानून की धारा 123 (3) और भारतीय दंड संहिता की धाराओं में सिद्धू के खिलाफ प्रथमिकी दर्ज की गई है।’ धारा 123 (3) धर्म, नस्ल, जाति, सम्प्रदाय और भाषा के नाम पर किसी भी प्रत्याशी या व्यक्ति द्वारा देश के नागरिकों के बीच घृणा या दुश्मनी फैलाने से रोकती है।

बता दें कि, नवजोत सिंह सिद्धू की तरह ही बसपा सुप्रीमो मायावती ने देवबंद की रैली में मुस्लिमों से महागठबंधन को वोट देने की अपील की थी जिसके बाद चुनाव आयोग ने सख्त कदम उठाते हुए उनके प्रचार पर 48 घंटे की रोक लगा दी है।

बता दें कि, बिहार की 40 लोकसभा सीटों पर 7 चरणों में मतदान हो रहा है। पहले चरण में राज्य की 4 सीटों पर मतदान 11 अप्रैल को हुआ था। बाकी की सीटों पर शेष 6 चरणों में मतदान होंगे। वहीं चुनाव परिणाम 23 मई को घोषित किए जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here