उत्तर प्रदेश: शिक्षिका को ‘आपत्तिजनक मैसेज’ भेजने के मामले में 10वीं कक्षा के छात्र पर मामला दर्ज

0

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में एक निजी स्कूल के 10वीं कक्षा के एक छात्र के खिलाफ ऑनलाइन कक्षा के दौरान कथित तौर पर अपनी शिक्षिका को अश्लील संदेश भेजने के मामले में मामला दर्ज किया गया है। छात्र के पिता के खिलाफ भी फोन पर शिक्षिका को धमकाने के लिए केस दर्ज किया गया है। पुलिस ने शनिवार को यह कार्रवाई की।

उत्तर प्रदेश

समाचार एजेंसी आईएएनएस की रिपोर्ट के मुताबिक, अपनी पुलिस शिकायत में, मुरादाबाद में सीबीएसई-संबद्ध स्कूल की सामाजिक विज्ञान विषय की 30 वर्षीय शिक्षिका ने आरोप लगाया कि जब वह गूगल मीट के माध्यम से ऑनलाइन कक्षाएं ले रही थीं तब उन्हें दो अनुचित संदेश भेजे गए थे। उन्होंने कहा कि संदेश कई अन्य छात्रों द्वारा भी पढ़े गए थे। उन्होंने अपनी शिकायत में कहा, मैंने छात्र के परिवार से संपर्क किया। हालांकि, उसके पिता ने अपने बच्चे को डांटने के बजाय, सुनने से इनकार कर दिया। उन्होंने मुझसे दुर्व्यवहार भी किया और धमकी दी।

बाद में शिकायत के आधार पर पुलिस ने पिता-पुत्र के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की। सर्कल अधिकारी कुलदीप सिंह ने कहा कि दोनों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है और एक विस्तृत जांच के लिए साइबर सेल को रिपोर्ट भेजी गई है। मामले की जांच की जा रही हैं।

नवल मारवाह (सिविल लाइंस एसएचओ) ने संवाददाताओं से कहा, छात्र के खिलाफ आईपीसी की धारा 504 (शांति भंग करने के इरादे से जानबूझकर अपमान) और 67 ए (यौन शोषण से संबंधित सामग्री के प्रकाशन या ट्रांसमिटिंग के लिए सजा आदि) के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है। जबकि उसके पिता पर आईपीसी की धारा 506 (आपराधिक धमकी के लिए सजा) के तहत मामला दर्ज किया गया है।

मारवाह ने कहा कि छात्र के परिवार के अन्य विवरण अभी भी एकत्र किए जा रहे हैं। सूत्रों ने कहा कि स्कूल मामले से अवगत है, लेकिन अभी तक छात्र के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई है। स्कूल के अधिकारी किसी भी आधिकारिक टिप्पणी के लिए अनुपलब्ध रहे। कोरोना महामारी को देखते हुए ऑनलाइन कक्षाएं संचालित की जा रही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here