दिल्ली के दिल कनॉट प्‍लेस में फरवरी से वाहनों को नहीं मिलेगी एंट्री

0

राष्ट्रीय राजधानी के दिल कहे जाने वाले कनॉट प्लेस (सीपी) के मिडिल एवं इनर सर्किल के मार्ग प्रायोगिक आधार पर फरवरी से तीन महीने के लिए वाहनमुक्त होंगे. इस कदम का लक्ष्य क्षेत्र में भीड़भाड़ कम करना है।

शहरी विकास मंत्रालय, एनडीएमसी और दिल्ली पुलिस के अधिकारियों की बैठक में यह फैसला किया गया. इस बैठक की अध्यक्षता केन्द्रीय मंत्री एम वेंकैया नायडू ने की।

कनॉट प्लेस

एक आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया कि यह फैसला हुआ है कि इस साल फरवरी से तीन महीने के लिए प्रायोगिक आधार पर कनॉट प्लेस में केवल पैदल आने जाने वालों को अनुमति दी जाएगी। इस कदम का उद्देश्य यातायात आवागमन में बदलाव, पैदल यात्रियों और दुकान मालिकों का अनुभव, पार्किंग स्‍थलों का प्रबंधन, आउटर सर्किकल में यातायात की स्थिति जैसे विषयों पर जमीनी स्तर का परीक्षण करना है।

भाषा की खबर के अनुसार, अधिकारियों ने कहा कि सीपी के मिडिल एवं इनर सर्किल मार्गों को वाहनमुक्त घोषित करके पैदल यात्रियों के आवागमन को बढ़ावा दिया जा सकता है. साथ ही शिवाजी स्टेडियम, बाबा खड़क सिंह मार्ग और पालिका पार्किंग के प्रमुख पार्किंग क्षेत्रों से असरदार ‘पार्क एंड राइड’ सेवा उपलब्ध कराई जाएगी।

उन्होंने कहा कि इन तीन क्षेत्रों में कुल पार्किंग क्षमता 3172 है और औसत रूप से केवल 1088 वाहन खड़े किए जाते हैं। ‘पार्क एंड राइड’ संकल्पना को बढ़ावा देकर बिना प्रयोग वाली क्षमता का पूरी तरह से प्रयोग किया जा सकता है।व्यावसायिक स्थलों तक ले जाने के लिए किराए पर साइकिल और बैटरी चालिक वाहनों को तैनात किया जाएगा।

नायडू ने नई दिल्ली नगर पालिका परिषद की स्मार्ट सिटी योजना के क्रियान्वयन की प्रगति की भी समीक्षा की परिषद के अध्यक्ष नरेश कुमार ने कहा कि अगले चार पांच महीनों में जमीन पर नतीजे नजर आने लगेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here