कनाडा के PM जस्टिन ट्रूडो की पत्नी सोफी भी कोरोना वायरस की शिकार, भारत में कुल 74 मरीज

0

महामारी का रूप ले चुके कोरोना वायरस के प्रकोप से दुनियाभर में आम लोगों के साथ-साथ खास लोग भी बच नहीं पा रहे हैं। कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो की पत्नी सोफी भी इस जानलेवा विषाणु से संक्रमित पाई गई हैं। इसके अलावा ईरान के प्रमुख नेता के एक मुख्य सलाहकार में कोरोना वायरस के ‘‘हल्के लक्षण’’ पाए जाने के बाद उन्हें अलग रखा गया है। वहीं, एक शीर्ष सहायक के कोरोना वायरस की चपेट में आने के बाद ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो की भी जांच की गई है।

कोरोना वायरस

कनाडा के प्रधानमंत्री कार्यालय ने गुरुवार देर रात एक बयान में कहा, ‘‘सोफी ग्रेगोइरे ट्रूडो कोविड-19 से संक्रमित पाई गई हैं।’’ इसमें कहा गया है, ‘‘चिकित्सा परामर्श के बाद वह कुछ समय तक अलग रहेंगी। वह ठीक हैं और सभी तरह की एहतियात बरत रही हैं तथा उनके लक्षण हल्के हैं। प्रधानमंत्री का स्वास्थ्य ठीक है और उन्हें कोई लक्षण नहीं हैं। एहतियातन तौर पर और डॉक्टरों की सलाह के बाद उन्हें 14 दिनों के लिए अलग रखा जाएगा।’’

बोलसोनारो के बेटे एडुआडरे बोलसोनारो ने ट्विटर पर कहा, ‘‘राष्ट्रपति बोलसोनारो की कोरोना वायरस के लिए जांच की गई है और हम नतीजों का इंतजार कर रहे हैं। हालांकि, अभी उनमें बीमारी के कोई लक्षण नहीं दिखे हैं।’’

यह खबर तब आई है जब बोलसोनारो के संचार प्रमुख फैबियो वाजगार्टन गत सप्ताहांत अमेरिकी की यात्रा के बाद कोविड-19 से संक्रमित पाए गए। अमेरिका की यात्रा के दौरान दोनों ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से मुलाकात की थी। वाजगार्टन ने ट्रम्प के बगल में खड़े होकर फोटो खिंचवाई थी लेकिन ट्रम्प ने कहा कि वह ‘‘चिंतित नहीं’’ हैं और व्हाइट हाउस ने कहा कि उन्हें जांच की जरूरत नहीं है।

ट्रम्प की प्रवक्ता स्टेफनी ग्रीशम ने एक बयान में कहा कि उन्हें इस समय जांच कराने की जरूरत नहीं है क्योंकि अमेरिकी सरकार के दिशा निर्देशों में उन लोगों की जांच करने की सिफारिश नहीं की गई है जिनमें बीमारी के लक्षण नहीं दिखाई दिए हैं। दूसरी ओर, ईरान के प्रमुख नेता अयातुल्लाह अली खामेनेई के सलाहकार अली अकबर वेलायती में कोरोना वायरस के हल्के लक्षण दिखाई देने के बाद उन्हें अलग रखा गया है।

इस बीच, न्यूयॉर्क में फिलीपीन की एक राजनयिक भी कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है जो शहर में संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में इस विषाणु का पहला मामला है। सूत्रों ने बताया कि सोमवार को आखिरी बार संयुक्त राष्ट्र आने वाली राजनयिक में अगले दिन इस संक्रमण के लक्षण देखे गए और वह डॉक्टर के पास गईं। फिलीपीन मिशन ने बृहस्पतिवार को एक पत्र में कहा, ‘‘उन्हें जानकारी दी गई है कि वह कोविड-19 से संक्रमित पाई गई हैं। आज से फिलीपीन मिशन को बंद कर दिया गया है और सभी कर्मचारियों को अपने आप को अलग रखने को कहा गया है।’’

भारत में फिलहाल 74 लोग इस वायरस से संक्रमित हैं और इसके प्रसार को रोकने के लिए दिल्ली सहित कुछ अन्य जगहों पर स्कूल, कॉलेज तथा सिनेमाघर बंद करने के आपात उपाय किये गये हैं। कोरोना वायरस से संक्रमित 74 लोगों में 17 विदेशी नागरिक हैं। इनमें 16 इतालवी हैं और कनाडा का एक नागरिक है। इन आंकड़ों में केरल के वे तीन मरीज भी शामिल हैं जिन्हें स्वस्थ होने के बाद पिछले महीने अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी। (इंपुट: एजेंसी के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here