सुप्रीम कोर्ट ने दिया आदेश, कलकत्ता हाईकोर्ट के जस्टिस कर्नन की हो मेडिकल जांच

0

अवमानना के मामले में सर्वोच्च न्यायालय ने सोमवार (1 मई) को कलकत्ता उच्च न्यायालय के न्यायाधीश न्यायमूर्ति सी.एस. कर्नन की चिकित्सा जांच के आदेश दिए। जस्टिस खेहर की अध्यक्षता वाली सात जजों की संविधान बेंच ने कोलकाता के सरकारी अस्पताल को इसके लिए मेडिकल बोर्ड के गठन का आदेश दिया हैं।

सुप्रीम कोर्ट
photo- abpnews

बता दें कि, जस्टिस कर्नन कलकत्ता हाईकोर्ट के न्यायाधीश हैं जस्टिस कर्नन के खिलाफ अवमानना मामले की सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने 8 फरवरी को उनसे न्यायिक काम वापस ले लिए थे। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पीठ ने चिकित्सा जांच मामले की अगली सुनवाई नौ मई से पहले करने के निर्देश दिए हैं।

Also Read:  AAP का सवाल, "शहीद की बेटी को रेप की धमकी देने वालों के खिलाफ क्यों चुप हैं BJP और RSS के नेता"?

बता दें कि, जस्टिस कर्नन पर ये कार्रवाई पीएम को भेजी चिट्ठी के आधार पर शुरू की गयी है। इसमें उन्होंने सुप्रीम कोर्ट और हाई कोर्ट के 20 जजों को नाम लेकर भ्रष्ट बताया था।

Also Read:  वसुंधरा सरकार के IAS अधिकारी ने महिला और बच्चों का निजी ब्योरा किया सार्वजनिक, दिग्विजय सिंह ने गृह मंत्रालय से की पीड़ित परिवार की सुरक्षा की मांग

पिछली सुनवाई में 7 जजों की बेंच ने उनसे पूछा था, “आप जजों पर लगाए आरोप पर कायम रहना चाहते हैं या उन्हें वापस लेते हुए माफ़ी मांगना चाहते हैं?” इसका जवाब देने की बजाय जस्टिस कर्नन ने सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस समेत 7 जजों के खिलाफ धड़ाधड़ आदेश देना शुरू कर दिया था।

Also Read:  पाकिस्तान की पायलट बहनों ने बोइंग 777 एक साथ उड़ाकर बनाया इतिहास

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here