राफेल डील पर नए खुलासे के बीच राज्यसभा में पेश की गई CAG रिपोर्ट, पिछली डील से बताया बेहतर, जेपीसी की मांग पर अड़ी कांग्रेस

0

राफेल डील में लगातार हो रहे नए खुलासे के बीच बुधवार(13 फरवरी) को सीएजी की रिपोर्ट राज्यसभा में पेश की गई। इस दौरान कांग्रेस ने जेपीसी से जांच कराने की मांग को लेकर हंगामा किया। बता दें कि राफेल मामले को लेकर केंद्र सरकार के खिलाफ विपक्ष का लगातार हल्ला बोल जारी है।

राफेल डील

CAG रिपोर्ट के मुताबिक यूपीए के मुकाबले NDA के शासनकाल में 2.86% सस्ती डील फाइनल की गई है। CAG रिपोर्ट के मुताबिक 126 विमानों के लिए किए गए सौदे की तुलना में भारत ने भारतीय आवश्यकतानुसार करवाए गए परिवर्तनों के साथ 36 राफेल विमानों के सौदे में 17.08 फीसदी रकम बचाई है।

राज्यसभा में पेश की गई भारतीय वायुसेना में कैपिटल एक्विज़िशन्स पर सीएजी रिपोर्ट में 16 पन्नों में राफेल सौदे के बारे में जानकारी दी गई है।

इसके अलावा बताया गया, रक्षा मंत्रालय की टीम ने मार्च 2015 में सिफारिश की थी कि 126 विमानों के सौदे को रद्द कर दिया जाए। टीम ने कहा था कि दसॉ एविएशन सबसे कम कीमत देने वाला नहीं है, तथा EADS (यूरोपियन एयरोनॉटिक डिफेंस एंड स्पेस कंपनी) टेंडर रिक्वायरमेंट को पूरी तरह पूरा नहीं करती।

देखिए लाइव अपडेट

  • सीएजी रिपोर्ट राज्यसभा में पेश किए जाने के बाद केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने ट्वीट कर लिखा, ‘सत्यमेव जयते-सत्य की जीत हमेशा होती है। राफेल पर CAG रिपोर्ट से यह कथन एक बार फिर सच साबित हुआ है।’
  • राफेल डील को लेकर पार्टी ने बुधवार सुबह राहुल गांधी के नेतृत्व में संसद परिसर में प्रदर्शन किया। विरोध प्रदर्शन के दौरान सोनिया गांधी और पूर्व पीएम मनमोहन सिंह समेत कई नेता हुए शामिल। इस दौरान सांसदों ने ‘चौकीदार चोर है’ नारे लगाए।
  • भारतीय वायुसेना में कैपिटल एक्विज़िशन्स पर CAG रिपोर्ट राज्यसभा में पेश कर दी गई है। इसी रिपोर्ट में राफेल सौदे का विवरण भी है।
  • राफेल सौदे को लेकर संसद में बुधवार को पेश होने जा रही CAG रिपोर्ट पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा, “मैं इसके बारे में विस्तार से एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करूंगा…”
  • राफेल डील पर आज 3.30 बजे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी प्रेस को संबोधि करेंगे। उन्होंने एक ट्वीट कर यह जानकारी हा। कांग्रेस अध्यक्ष ने ट्वीट कर कहा, “पीएम मोदी ने दो आधार पर राफेल सौदे का बचाव किया है, पहला बेहतर मूल्य और दूसरा तेज डिलीवरी। दोनों ही दावों को ‘द हिंदू’ अखबार की रिपोर्ट में इन दावों को ध्वस्त कर दिया गया है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here