VIDEO: विधायक अमनमणि त्रिपाठी के खिलाफ शिकायत लेकर पहुंचे पीड़ित को CM योगी ने डांटकर भगाया, शख्स ने रोते हुए सुनाई आपबीती

0

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर एक व्यक्ति ने जनता दरबार से धक्का मारकर भगाने का गंभीर आरोप लगाया है। गोरखपुर के गोरक्षनाथ मंदिर में सीएम योगी के जनता दरबार में लखनऊ के आयुष सिंघल नाम के एक व्यापारी पूर्व मंत्री अमरमणि त्रिपाठी और उनके विधायक बेटे अमनमणि त्रिपाठी के खिलाफ शिकायत लेकर पहुंचे थे। आरोप है कि शख्स ने जब निर्दलीय विधायक अमनमणि त्रिपाठी की शिकायत की तो सीएम योगी ने कथित तौर पर उसे बुरी तरह फटकार लगाते हुए जनता दरबार से बाहर भगा दिया।

(फोटो क्रेडिटः सोशल मीडिया)

यहां पीड़ित व्यापारी ने मुख्यमंत्री योगी से मिलकर अमनमणि त्रिपाठी के खिलाफ साढ़े बाईस बीघा जमीन कब्जाने और उनके द्वारा धमकी देने की शिकायत दी। आरोप है कि सीएम यह सुनते ही उल्टा पीड़ित व्यापारी पर ही भड़क गए।आयुष ने बताया कि उन्होंने 5 साल पहले लखनऊ के अलीगंज में करीब 22 बीघा जमीन खरीदी थी। उस पर बाहुबली नेता अमरमणि त्रिपाठी के नौतनवां से निर्दलीय विधायक बेटे अमनमणि त्रिपाठी ने अवैध कब्जा कर लिया।

पीड़ित व्यापारी का आरोप है कि वह इस संबंध में पुलिस से लेकर जिला प्रशासन तक गुहार लगा चुके हैं। आयुष ने कहा कि सीएम योगी से काफी उम्मीद लेकर वो यहां पहुंचे थे। पेशे से व्यवसायी आयुष का कहना है कि अमनमणि जमीन छोड़ने को तैयार नहीं हैं। उनके मुताबिक, जब उन्होंने अमनमणि की शिकायत की तो मुख्यमंत्री योगी उसी पर भड़क गए। सीएम ने कथित तौर पर उनकी बात भी नहीं सुनी और फाइल फेंकते हुए कोई कार्रवाई न होने की बात कह दी।

आयुष के मुताबिक, जनता दरबार में जब उन्होंने यह पूरा मामला सीएम योगी को बताना शुरू किया तो वह पीड़ित पर ही भड़क गए। साथ ही व्यापारी की पूरी बात सुनने के बजाए फाइल फेंककर कोई कार्रवाई न होने की बात कहकर भगा दिया। आयुष ने कहा इससे पहले वह सीएम योगी से लखनऊ और 28 फरवरी को गोरखपुर जनता दरबार में मिल चुके थे। पीड़िता आयुष ने आरोप लगाया कि विधायक अमनमणि त्रिपाठी और उनके गुंडों द्वारा उन्हें लगातार धमकी दिया जा रहा है।

व्यापारी का कहना है कि उस वक्त सीएम योगी ने लखनऊ एसएसपी को जांच के आदेश दिए थे, लेकिन एक महीने बाद भी केस में उचित कार्रवाई न होने पर वह फिर सीएम से मिलने पहुंचे। इस पर उन्हें कार्रवाई के आश्वासन के बजाय मुख्यमंत्री ने उल्टे उसी को फटकार लगना शुरू कर दिए। खबर लिखे जाने तक व्यापारी के आरोपों पर विधायक अमनमणि की प्रतिक्रिया नहीं आई है।

शिकायत लेकर पहुंचे पीड़ित पर ही भड़के CM योगी

विधायक अमनमणि त्रिपाठी के खिलाफ शिकायत लेकर पहुंचे पीड़ित पर ही भड़के CM योगी आदित्यनाथ, जनता दरबार से निकले शख्स ने रोते हुए सुनाई आपबीती

Posted by जनता का रिपोर्टर on Tuesday, 3 April 2018

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here