मध्य प्रदेश के सीधी में यात्रियों से भरी बस नहर में गिरी, अब तक 32 शव निकाले गए, मृतकों को 5 लाख रुपये मुआवजे का ऐलान

0

मध्य प्रदेश के सीधी जिले में यात्रियों से भरी एक बस अनियंत्रित होकर नहर में जा गिरी और गहरे पानी में समा गई है, इस हादसे में अब तक 32 लोगों की मौत हो चुकी है, राहत और बचाव कार्य जारी है। पुलिस और प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार कई और लोग नहर में डूबे हुए हैं।

मध्य प्रदेश

बाणसागर बांध जलाशय से जुड़ी इस नहर में 20 फीट से अधिक पानी भरा था। जलाशय से पानी छोड़ने का कार्य बंद कराने के बाद नहर का जलस्तर कम हुआ और राहत एवं बचाव और तेजी से प्रारंभ किए गए। हादसे की सूचना मिलते ही कलेक्टर रवींद्र कुमार चौधरी दलबल के साथ मौके पर पहुंचे। सूत्रों ने कहा कि हादसा जिला मुख्यालय से लगभग 80 किलोमीटर दूर हुआ है और बस सुबह सीधी से रवाना हुई थी और यह सतना जा रही थी।

सुबह लगभग आठ बजे छुहिया घाटी में जाम लगा होने के कारण बस पास ही स्थित दूसरे मार्ग से सतना की ओर रवाना हुई और बाणसागर बांध परियोजना की नहर में जा गिरी।

राज्य के जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट ने बताया है कि राहत और बचाव काम जारी है। अब तक करीब 32 लोगों के शव बरामद कर लिए गए है। मुख्यमंत्री के निर्देश पर सिलावट और राज्यमंत्री रामखिलावन पटेल मौके के लिए रवाना हेा गए हैं।

भाजपा के विधायक शरदेंदु तिवारी ने बताया कि बाणसागर बांध से निकली मुख्य नहर है शरदा नहर। इस नहर में लगभग 30 फीट पानी होता है। इसी नहर में बस गिरी है। बस पूरी तरह पानी में डूब गई है। हृदय विदारक घटना है। बाणसागर बांध से पानी की आपूर्ति रोक दी गई है ताकि बस तक आसानी से पहुंचा जा सके। बचाव कार्य के लिए क्रेन सहित अन्य उपकरण पहुंच गए हैं। प्रशासनिक अमला भी मौके पर है।

सूात्रों का कहना है कि इस हादसे में बड़ी संख्या में लोगों की मौत हो सकती है, ऐसा इसलिए क्योंकि बस पूरी तरह पानी में डूब गई है। बाणसागर बांध से पानी की आपूर्ति रोकी गई है, लगभग दो से तीन घंटे बाद ही पानी का स्तर कम हेागा और बस तक पहुंचना आसान हो पाएगा।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दुर्घटना में मारे गए लोगों के तत्काल परिवार के सदस्यों को 5 लाख रुपये मुआवजे की घोषणा की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here