बुरहान वानी के एन्काउंटर वाले घर को भीड़ ने आग लगाई

0

जम्मू कश्मीर की राजधानी श्रीनगर से करीब 83 किलोमीटर दूर कोकरनाग में भीड़ ने उस घर को आग के हवाले कर दिया, जिसमें बीते शुक्रवार को सुरक्षा बलों के साथ गोलीबारी में हिज्बुल मुजाहिदीन का कमांडर बुरहान वानी और उसके दो साथी मारे गए थे।

पीटीआई भाषा की खबर के अनुसार, एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि भारी भीड़ ने बमदूरा में मंजूर अहमद के घर पर हमला कर उसमें आग लगा दी। मंजूर को मारे गए एक आतंकवादी का रिश्तेदार बताया जाता है। जाहिर तौर पर घर को इसलिए जला दिया गया, क्योंकि भीड़ को लगा कि बुरहान की वहां मौजूदगी की जानकारी सुरक्षा बलों को घर में रहने वाले लोगों से ही मिली थी।

अधिकारी के मुताबिक भीड़ ने सेबों के एक घने बाग को भी तबाह कर दिया। अधिकारी ने कहा कि इलाके में हालात बहुत तनावपूर्ण हैं और अधिकारी उस पर नजर रख रहे हैं।

सुरक्षा बलों ने बीते शुक्रवार 21 साल के बुरहान और दो अन्य आतंकवादियों को मुठभेड़ में मार गिराया था। आतंकवादियों की एक घर में मौजूदगी की सूचना मिलने के बाद सुरक्षा बल के जवान गांव में आए थे। सुरक्षा बलों को हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकी सरताज की मौजूदगी की खबर मिली थी, जिससे बुरहान के भी मौजूद होने की उम्मीद लगी। इससे पहले खुफिया जानकारी मिली थी कि दोनों साथ ही आते-जाते हैं।

मुठभेड़ खत्म होने के बाद तीन मृत आतंकवादियों में बुरहान के शव को देखकर सुरक्षा बलों को खुशी हुई थी, जो सोशल नेटवर्किंग वेबसाइटों पर कुछ वीडियो और तस्वीरों से मशहूर होने लगा था, जिनमें युवाओं से आतंकवाद में शामिल होने के लिए कहा जाता था। अधिकारी ने बताया कि दक्षिण कश्मीर में काइमो कुलगाम और खुदवानी से, उत्तर कश्मीर में त्रेहगाम, लालपुरा, बट्टेरगाम, कुपवाड़ा, हेहामा, हतमुल्ला, वारपुरा, सोपोर, आरामपुरा, सीमेंट ब्रिज, बारामूला और पाल्हालन से, बडगाम के सुजैथ और नरबल से तथा श्रीनगर के हाबकादल में पारिमपुरा और चिंकराल मोहल्ला से पथराव की कुछ छिटपुट घटनाओं की खबरें हैं। उन्होंने कहा कि हालांकि संघर्ष में किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है।

LEAVE A REPLY