बुलंदशहर हिंसा: मुख्य आरोपी योगेश राज ने जारी किया वीडियो, खुद को बताया बेकसूर

0

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले के स्याना में गौकशी के शक में हुई भीड़ की हिंसा व बवाल में कथित संलिप्तता के लिए पुलिस ने मंगलवार को चार व्यक्तियों को गिरफ्तार किया। इसके अलावा करीब चार से पांच लोगों को हिरासत में भी लिया गया है। हालांकि, इस मामले में मुख्य आरोपी बजरंग दल का जिला संयोजक योगेश राज अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। योगेश राज भले ही पुलिस की पहुंच से दूर हो लेकिन उसने सोशल मीडिया पर एक वीडियो जारी करके अपनी सफाई पेश की और खुद को बेकसूर बताया है।

बुलंदशहर

योगेश राज ने अपना एक विडियो जारी करके दावा किया है कि उसका हिंसा की घटना से कोई लेना-देना नहीं है। पुलिस उसे अपराधियों की तरह से पेश कर रही है जबकि वह इस मामले में पूरी तरह से निर्दोष है। उसने यह भी कहा कि घटना के वक्‍त वह स्‍याना थाने में था। वीडियो की शुरुआती में वह कहता है, “जय श्री राम। मैं योगेश राज, जिला संयोजक, बजरंग दल, बुलंदशहर, पुलिस मुझे इस प्रकार प्रस्तुत कर रही है कि जैसे कि मेरा कोई बहुत बड़ा अपराधिक इतिहास हो।”

इसके बाद वह आगे कहता है कि, “मैं आप सब लोगों को यह बताना चाहता हूं कि उस दिन दो घटनाएं घटित हुई थी, पहली घटना स्याना के नजदीक गांव महाव में गोकशी की हुई जिसकी सूचना पाकर मैं अपने साथियों सहित मौके पर पहुंचा था और वहां प्रसाशनिक लोग भी वहां पहुचे थे और इसके बाद मामले को शांत हम सब लोग अपने साथियों सहित स्याना थाने में मुकदमा लिखवाने आ गया था, हमें थाने पर ही पता चला कि उस जगह पर ग्रामीणों ने पथराव कर दिया है और वहां पर फायरिंग हुई है जिसमें एक युवक को गोली लगी है और एक पुलिसवाले को भी गोली लगी है।”

इसके बाद वह अपनी सफाई पेश करते हुए कहता है, “जब हमारी मांग पूर्ण करके मुकदमा स्याना थाने में लिखा जा रहा था तो बजरंग दल कोई आंदोलन प्रदर्शन क्यों करता, मैं दूसरी घटना में उक्त स्थल पर मौजूद नहीं था, मेरा दूसरी घटना से कोई लेना देना नहीं है। ईश्वर मुझकों न्याय दिलाएंगे। मुझे ऐसा भगवान पर पूर्ण भरोसा है। धन्यवाद।”

बता दें कि पुलिस एफआईआर के मुताबिक योगेश राज ने सोमवार को हिंसक भीड़ की अगुआई की थी। यह स्याना के नयाबांस गांव का रहने वाला है और पहले भी कई विवादों में इसका नाम आ चुका है। पुलिस ने उसके खिलाफ आईपीसी की कई धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस एफआईआर के अनुसार योगेश राज अपने साथियों के साथ मिलकर भीड़ को भड़का रहा था। घटना के बाद से ही योगेश राज फरार चल रहा है और उसको पकड़ने के प्रयास किए जा रहे हैं।

बता दें कि बुलंदशहर जिले के स्याना इलाके में दक्षिणपंथी कार्यकर्ताओं समेत करीब 400 लोगों की भीड़ ने सोमवार को पुलिस के साथ मारपीट की। यह हिंसा पास के जंगल में गाय के कंकाल होने की जानकारी मिलने से दक्षिणपंथी समूहों के कार्यकर्ताओं के आक्रोशित होने के बाद भड़की। गुस्साई भीड़ ने इस दौरान पुलिस पर पथराव करते हुए पुलिस के कई वाहनों में आग लगा दी और उन पर गोलियां भी चलाईं। पुलिस ने जवाबी कार्रवाई की। इस हिंसा में स्याना के थाना प्रभारी सुबोध कुमार सिंह और 20 वर्षीय युवक सुमित कुमार की मौत हो गई थी।

पुलिस ने मंगलवार को कहा कि चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है लेकिन मुख्य आरोपी, बजरंग दल का जिला संयोजक योगेश राज फरार है। उन्होंने बताया कि प्राथमिकी में 27 लोगों को नामजद किया गया है जबकि 50 से 60 अज्ञात लोगों के खिलाफ मामले दर्ज किए गए हैं।

अधिकारियों ने बताया कि 27 में से कम से चार व्यक्ति बजरंग दल जैसे दक्षिणपंथी संगठनों के कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी हैं। इलाके में भारी संख्या में सुरक्षा बलों की तैनाती की गई है और स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। गुस्साए परिवार अपने-अपने रिश्तेदार के लिए न्याय की मांग कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here