उत्तर प्रदेश: ‘ठाकुर’ ब्रांड लिखा जूता बेच रहा मुस्लिम दुकानदार को बुलंदशहर पुलिस ने गिरफ्तार किया, आलोचनाओं के बाद छोड़ा

0

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर ज़िले में ‘ठाकुर’ ब्रांड के जूते बेचने के लिए एक मुस्लिम दुकानदार को गिरफ्तार करने के बाद यूपी पुलिस को आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है। पुलिस ने मुस्लिम व्यक्ति के खिलाफ यह कार्रवाई एक दक्षिणपंथी समूह की शिकायत के बाद की। वहीं, पुलिस ने निसार की गिरफ्तारी को जायज ठहराया है, जिससे सोशल मीडिया यूजर्स भड़क गए हैं। हालांकि, जूते बेचने के आरोप में गिरफ़्तार व्यक्ति को पुलिस ने कुछ घंटों के भीतर ही छोड़ दिया।

बुलंदशहरमामला बुलंदशहर के गुलावठी का है। दुकानदार पर ऐसे जूते बेचने का आरोप है जिसके ‘सोल’ पर उच्‍च वर्ग की जाति ‘ठाकुर’ नाम लिखा हुआ है। दुकानदार नासिर को क्षेत्र के दक्षिणपंथी संगठन के नेता विशाल चौहान की शिकायत के बाद हिरासत में लिया गया था। युवक की तहरीर पर पुलिस ने जूते बेचने और बनाने वाली कंपनी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। नासिर पर धर्म के आधार पर विभिन्‍न समूहों के बीच दुश्‍मनी को बढ़ावा देने, सार्वजनिक स्‍थान पर शांति भंग करने सहित कई गंभीर आरोप लगाए गए हैं।

इस घटना के कई वीडियो वायरल हो रहे हैं जिसमें दुकानदार और बजरंग दल कार्यकर्ताओं के बीच बहस हो रही है।सोशल मीडिया पर शेयर किए गए घटना के वीडियो में लोगों के समूह को दुकानदार को घेरे हुए देखा जा सकता है। इसमें नासिर पूछता है, ‘क्‍या मैं इन जूतों को बना रहा हूं?’ इस पर एक शख्‍स कहता है, ‘तब तुम इन्‍हें यहां लेकर क्‍यों आए हो?’

निसार की गिरफ्तारी के बाद बुलंदशहर पुलिस ने ट्वीट किया, “इस प्रकरण में वर्तमान विधि व्यवस्था के अनुसार जो सुसंगत था वह कार्यवाही की है, यदि पुलिस कार्यवाही न करती तो बहुत से लोग उल्टी/भिन्न प्रतिक्रिया देते। अतः पुलिस ने नियम का पालन किया है। कृपया इसे इसी रूप में देखें।” यह ट्वीट करने के बाद यूपी पुलिस सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गई।

हालांकि, आलोचनाओं के बाद बुलंदशहर पुलिस ने मुस्लिम विक्रेता को उसके रिश्तेदारों को सौंपते हुए कहा है कि उसे तब तक पूछताछ के लिए बुलाया जा सकता है, जब तक इस मामले की जांच नहीं हो जाती।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here