BSF जवान गुरनाम सिंह शहीद, पाकिस्तानी रेंजर्स ने बनाया था निशाना

0

जम्मू-कश्मीर कठुआ जिले में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर कल पाकिस्तानी सैनिकों के हमले में घायल हुए बीएसएफ के जवान गुरनाम सिंह की मौत हो गई।

पुलिस के अनुसार 26 साल के इस जांबाज ने सरकारी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में रात करीब 11:45 बजे अंतिम सांस ली। इसी अस्पताल में कल से उनका उपचार चल रहा था।

Also Read:  Pakistani guns increasingly target civilians in border hamlets
Photo courtesy: ndtv
Photo courtesy: ndtv

19-20 अक्टूबर की रात को जम्मू के हीरानगर सेक्टर के बोबिया पोस्ट पर गुरनाम की अपने कुछ साथियों के साथ आतंकियों से मुठभेड़ हुई थी। गुरनाम के मुस्तैदी के चलते ही आतंकी सीमा पारकर भारत में नहीं घुस पाए थे।

Also Read:  RTI से खुलासा: छत्तीसगढ़, गुजरात और मध्य प्रदेश के चुनावों में चोरी हुई हैं EVM, फिर उठ सकता है सुरक्षा पर सवाल

इसके बाद 21 अक्टूबर को सुबह नौ बजकर पैंतीस मिनट पर पाकिस्तानी रेंजर्स ने बदला लेने के ख्याल से स्नाइपर रायफल्स से गुरनाम को निशाना बनाया। इसके बाद से उसकी हालत काफी गंभीर बनी हुई थी।  गुरनाम पांच साल पहले बीएसएफ में भर्ती हुए थे सिख परिवार में जन्मे गुरनाम जम्मू के रणवीरसिंह पुरा इलाके के रहने वाले हैं।

Also Read:  Life remains paralysed in Kashmir, restrictions continue

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here