J&K: कठुआ बलात्कार-हत्याकांड मामले में आरोपियों का समर्थन करने वाले पूर्व BJP मंत्री के भाई ने CM महबूबा मुफ्ती को दी गाली, उमर अब्दुल्ला ने की FIR दर्ज करने की मांग

0

जम्मू-कश्मीर में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के एक पूर्व मंत्री के भाई पर मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को गालियां देने का आरोप लगा है। सोशल मीडिया यूजर्स का दावा है कि सीएम महबूबा मुफ्ती को गाली दे रहा शख्स कठुआ में आठ साल की मुस्लिम बच्ची के साथ हुए बलात्कार और हत्या के संबंध में गिरफ्तार आरोपियों के समर्थन में आयोजित एक रैली में शामिल होने वाले चौधरी लाल सिंह का भाई है। हालांकि, आधिकारिक तौर पर अभी इस बात पुष्टि नहीं हो पाई है।

वायरल हो रहे वीडियो में चश्मा पहना एक शख्स मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल करते हुए गाली दे रहा है। यहां पर बड़ी संख्या में उसके समर्थक भी दिखाई दे रहे हैं। कुछ समर्थकों के हाथ में तिरंगा झड़ा भी दिख रहा है और वह लोग हाय-हाय के नारे लगा रहे हैं। सीएम महबूबा को गाली दे रहे शख्स की सोशल मीडिया पर तीखी आलोचना हो रही है। तमाम बड़े-बड़े पत्रकार, सामाजिक कार्यकर्ता और राजनीतिक पार्टियों के नेता आलोचना कर रहे हैं।

इस वीडियो पर जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने कड़ी आपत्ति जताई है और आरोपी के खिलाफ FIR दर्ज करने की मांग की है। उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट कर कहा, “यह पूरी तरह से स्वीकार गंदी और अस्वीकार्य भाषा है, इसका इस्तेमाल महबूबा मुफ्ती के खिलाफ किया गया है, हम इसकी तीव्र आलोचना करते हैं और जम्मू-कश्मीर पुलिस से अपील करते हैं कि गाली देने वाले शख्स के खिलाफ एफआईआई दर्ज किया जाए।”

बता दें कि पिछले दिनों कठुआ रेप केस के आरोपियों के समर्थन में एक रैली करने के बाद बीजेपी के पूर्व मंत्री चंद्र प्रकाश गंगा और चौधरी लाल सिंह ने इस्तीफा दे दिया था। सिंह और गंगा ने एक मार्च को एक रैली में भाग लिया था जिसका आयोजन जम्मू कश्मीर पुलिस की अपराध शाखा द्वारा एक बच्ची के बलात्कार और हत्या के संबंध में एक मंदिर का रखरखाव करने वाले के भतीजे को गिरफ्तार करने के बाद किया गया था।

कोर्ट में दाखिल चार्जशीट के मुताबिक, लड़की का 10 जनवरी को अपहरण किया गया था और उसका शव 17 जनवरी को मिला। जांच के दौरान अपराध शाखा ने आरोप लगाया कि उसे नशीली दवा दी गई और उसकी हत्या से पहले उसके साथ बार-बार बलात्कार किया गया। दोनों मंत्रियों का कहना था कि उन्हें पार्टी ने कठुआ भेजा था, ताकि जमीनी स्थिति समझी जा सके। दोनों मंत्री बलात्कार के आरोपियों के समर्थन में आयोजित इस रैली में मौजूद थे जहां तिरंगे भी फहराए गए।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here