महात्मा गांधी के निजी सचिव बोले- 'आज की वर्तमान सरकार से बेहतर था ब्रिटिश शासन'

0

देश के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के निजी सचिव रहे वेंकट कल्याणम ने दावा किया है कि ब्रिटिश सरकार भारत में जो आज की वर्तमान सरकार (केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार) है उससे कहीं बेहतर था। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, उन्होंने यह दावा कि मंगलवार (2 अक्टूबर) को महात्मा गांधी की 149वीं जयंती के मौके पर तमिलनाडु के मदुरै में किया।

File Photo: PTI

द टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, मंगलवार को मदुरै में महात्मा गांधी के निजी सचिव रहे 96 वर्षीय कल्याणम ने कहा कि ब्रिटिश राज वर्तमान शासकों की तुलना में काफी बेहतर था। अखबार के मुताबिक, उन्होंने आगे कहा कि मैं वर्तमान में भारत में ब्रिटिश शासन पसंद करूंगा।
कल्याणम ने कहा कि ब्रिटिश शासन के दौरान देश में कोई भ्रष्टाचार नहीं था। उन्होंने कहा कि खुद गांधीजी ने कई बार उनकी प्रशासनिक उत्कृष्टता की सराहना की थी। गांधी संग्रहालय में आयोजित भव्य प्रदर्शनी का उद्घाटन करते हुए वह महात्मा गांधी के साथ आश्रम में गुजारे दिनों की यादों में खो गए।
उन दिनों को याद करते हुए उन्होंने कहा कि सभी को 3 बजे उठकर प्रार्थना सत्र में भाग लेना पड़ता था। कल्याणम ने बताया कि वह गांधीजी के पत्रों को लिखा करते थे और बाद में वह एक पेंसिल के साथ सुधार करते थे। इन पत्रों में से कुछ जिन्हें गांधी द्वारा सही किया गया था, वे फिलहाल प्रदर्शनी में मौजूद हैं।

आपको बता दें कि मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक वेंकट कल्याणम 1943 से 1948 तक बापू यानी गांधी जी के निजी सचिव थे। वेंकट 30 जनवरी की घटना का गवाह होने का दावा करते हैं। वर्ष 2006 में कोल्लम में एक संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने यह कहकर पूरे देश को चौंका दिया था कि जब नाथूराम गोडसे की गोलियां लगने से महात्मा गांधी गिर गए थे, उन्होंने ‘हे राम’ नहीं बोला था।
हालांकि, कल्याणम ने इस बयान पर बाद में अपनी सफाई दी और कहा कि उनके बयान को तब तोड़-मरोड़कर पेश किया गया था। उन्होंने दावा किया कि वह यह कभी नहीं बोले थे कि ‘हे राम’ बापू के अंतिम शब्द नहीं थे। वेंकट ने कहा, ‘महात्मा गांधी को जब गोली लगी, हर कोई चिल्ला रहा था। मैं उस शोर में कुछ नहीं सुन सका। हो सकता है कि उन्होंने ‘हे राम’ बोला हो। मैं नहीं जानता।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here