परंपराएँ तोड़कर फैशन शो में रैंप पर चली विधवाएं

0

लहंगा-चोली पहने और चमकदार मेकअप लगाए नब्बे साल से अधिक उम्र की एक विधवा छड़ी लेकर रैंप पर चली. उन्होंने वर्षों पुरानी उस परंपरा को तोड़ने की कोशिश की जिसके तहत विधवाओं से सांसारिक सुखों को छोड़ने की अपेक्षा की जाती है।

India Widows Changing Lives - Photo Gallery

उनका कैटवॉक विधवाओं के लिए आयोजित फैशन शो का हिस्सा था. इस फैशन शो का आयोजन एनजीओ सुलभ इंटरनेशनल ने किया था, जिसमें वृंदावन और वाराणसी के साथ-साथ केदारनाथ के निकट देवली ब्रह्मग्राम की तकरीबन 400 विधवाओं ने हिस्सा लिया, देवली ब्रह्मग्राम को उत्तराखंड में आई विनाशक बाढ़ के बाद से ‘विधवाओं के गांव’ के नाम से जाना जाता है।

Also Read:  Modi government trying to control ACB and crush anti-corruption forces, claims Manish Sisodia

India Widows Changing Lives - Photo Gallery

भाषा की खबर के अनुसार, 33 साल की विधवा उर्मिला तिवारी ने कहा, मैंने जो आज कपड़े पहने हैं, उसे देखें. ऐसे कपड़े मैंने अपनी शादी के दिन भी नहीं पहने थे. वृंदावन से आईं तिवारी ने फैशन शो के महत्व को समझाया. तिवारी ने कहा कि विधवाओं से अक्सर कहा जाता है कि वह यह कर सकती हैं या ये नहीं कर सकती हैं. इस कार्यक्रम का आयोजन ऐसी बाधाओं को तोड़ता है. उन्होंने कहा, हमें नया जीवन दिया गया है. इस मेकअप के जरिए हमारी जिंदगी में रंग भरा गया है।

Also Read:  प्रकाश जावेडकर ने नेहरू पटेल वाले बयान पर सफाई दी, लेकिन वीडियो मे सच क़ैद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here