राजस्‍थान: आध्यात्मिक मेले में बुकलेट से किया जा रहा है प्रचार, सैफ अली खान, आमिर खान ने हिन्दू लड़कियों को फंसा लिया

0

राजस्थान की वसुंधरा राजे सरकार ने जयपुर के स्कूली छात्रों और शिक्षकों को वहां चल रहे ‘आध्यात्मिक मेले’ में जाने का निर्देश दिया है। यह आदेश इसलिए दिया गया है कि ताकि वे वहां पर ‘लव जिहाद’ के बारे में सीख सकें, ईसाइयों के षडयंत्र की किताब खरीद सकें, शाकाहारी बनने की शपथ लें और गाय को ‘राष्ट्रीय माता’ घोषित करने के लिए चलाए जा रहे अभियान पर अपने साइन करें। इसके अलावा वह यह भी जान सके कि सैफ अली खान और आमिर खान ने हिन्दू लड़कियों को फंसा लिया। इस तरह का प्रचार इस आध्यात्मिक मेले में किया जा रहा है।

राजस्‍थान

गुरुवार (16 नवंबर) से शुरू हुए राजस्थान की राजधानी जयपुर के आध्यात्मिक मेले में एक बुकलेट बेचकर प्रचार किया जा रहा है कि जिसमें बताया गया है कि हिंदू महिलाएं मुसलमानों से सावधान रहे व इसमें मुसलमानों को गद्दार बताने, उन्हें राष्ट्र विरोधी कहने के साथ पाकिस्तानी कहने की अपील की गई है। बुकेलट का नाम ‘जिहाद और लव जिहाद.. हिंदू लड़कियां सावधान रहें’ है।

इस पुस्तक को विश्व हिंदू परिषद (VHP) और बजरंग दल के सदस्यों के द्वारा बांटने का कथित का मामला सामने आया है। गुरुवार से शुरू हुए इस मेले को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) से सहबद्ध हिंदू आध्यात्म एवं सेवा फाउंडेशन (HSSF) द्वारा आयोजित किया जा रहा है।

किताब में बच्चों के माता पिता से अपील की गई है कि वो अपने बच्चों की हरकतों पर ध्यान रखे और खासतौर पर हिंदूू युवतियों के माता पिता के लिए लिखा गया है कि वो अपनी बेटियों का ध्यान रखे कि वो किससे मिलती है,फोन पर किससे बातें करती है इत्यादि।

किताब में लिखा गया है, ‘हिंदू घरों में मुस्लिम लड़कों का आना, अलग कमरों में बैठ कर लड़की से गप्पे लगाना, अपने को हिंदू बताना, लाल कलावा हाथ में बांधना। माताजी-पिताजी कहकर सम्मानित करना, भाग-भागकर उनके घरों के काम हुए मां-बाप के दिल में श्रेष्ठता निर्माण करना। फिर आराम से घर आना-जाना। लड़की के साथ एकान्त में बैठना, प्यार मोहब्बत की बातें करते-करते वह उसी लड़के से विवाह करेगी इस जिद्द पर उतर आती है। मां-बाप तैयार नहीं हुए तो लड़कियां धर से भाग कर इस्लामिक रीति रिवाज से शादी कर मुस्लिम बन जाती है।’

यह बुकलेट 5 रुपए में दी जा रही है। इसमें लव जिहाज के खिलाफ कैंपेन चलाते हुए हिन्दू महिलाओं सलाह दी गई है कि वो मुस्लिमों को आंतकी, देशद्रोही,पाक समर्थक,दुष्कर्मी और तस्कर जैसे शब्दों से परिभाषित करें।

शिक्षा अधिकारी दीपक शुक्ला ने कहा कि मेले के आयोजनकर्ताओं की मदद करने के लिए राज्य के सभी सरकारी और निजी स्कूलों से मेले में बच्चों की उपस्थिति दर्ज कराने के लिए कहा गया है। उन्होंने बताया कि यह निर्देश प्राइमरी एंड सेकेंडरी एडुकेशन मिनिस्टर वसुदेव देवनानी द्वारा दिए गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here