बम की अफवाह से सुप्रीम कोर्ट में मची अफरा तफरी, ‘पावर बैंक’ की बीप की आवाज से हुआ भ्रम

0

सुप्रीम कोर्ट में शुक्रवार (14 फरवरी) को एक लावारिस बैग में पावर बैंक की बीप की आवाज से वहां बम होने की अफवाह फैल गई। आवाज सुनने के बाद सुरक्षाकर्मी तत्काल हरकत में आ गए और उन्होंने अदालत 4 के बाहर के क्षेत्र को घेर लिया।

सुप्रीम कोर्ट
फाइल फोटो

अधिकारियों ने बताया कि बैग को एक सुनसान इलाके में खाली किया गया और यह पाया गया कि बीप की आवाज पावर बैंक से आ रही थी। उन्होंने बताया,‘‘हमने पावर बैंक सहित लावारिस बैग को नियंत्रणकक्ष में जमा करा दिया है।’’ इस घटना से न्यायालय की कार्यवाही में बाधा नहीं पहुंची।

बम की सूचना मिलते ही कोर्ट में थोड़ी-बहुत भागम-भाग वाली स्थिति देखी गई। हालांकि सुरक्षाकर्मियों की सूझबूझ से यह बात ज्यादा नहीं फैल सकी और सारा काम-काज सामान्य रूप से चलती रही। बता दें कि, शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में कई बड़े केस की सुनवाई थी, जिसमें निर्भया केस, दूर संचार के 1.47 लाख करोड़ रुपये के मामले जैसे कई प्रमुख केस शामिल रहे।

सुप्रीम कोर्ट ने समायोजित सकल राजस्व (एजीआर) बकाये का भुगतान करने के आदेश का अनुपालन न करने पर शुक्रवार को दूरसंचार कंपनियों को फटकार लगाई। सुप्रीम कोर्ट ने दूरसंचार एवं अन्य कंपनियों के निदेशकों, प्रबंध निदेशकों से यह बताने को कहा कि एजीआर बकाए के भुगतान के आदेश का अनुपालन नहीं किए जाने को लेकर उनके खिलाफ अवमानना कार्रवाई क्यों नहीं की जाए।

न्यायमूर्ति अरुण मिश्रा, न्यायमूर्ति एस. अब्दुल नजीर और न्यायमूर्ति एम.आर.शाह की पीठ ने आदेश का अनुपालन नहीं होने पर कड़ी आपत्ति जताते हुए दूरसंचार विभाग के डेस्क अधिकारी के उस आदेश पर अफसोस जताया, जिससे एजीआर मामले में दिए गये फैसले के अनुपालन पर रोक लगी। पीठ ने कहा, ‘‘हमें नहीं मालूम कि कौन ये बेतुकी हरकतें कर रहा है, क्या देश में कोई कानून नहीं बचा है । बेहतर है कि इस देश में न रहा जाए और देश छोड़ दिया जाए।’’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here