झारखण्ड: दो आदिवासी महिला हॉकी खिलाड़ियों के शव पेड़ से लटके मिले, परिजनों ने जताया हत्या का शक

0

झारखण्ड के सिमडेगा जिले में दो आदिवासी महिला हॉकी खिलाड़ियों के शव एक पेड़ से लटके मिले हैं। उनके परिवार के लोगों ने हत्या का आरोप लगाया है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने यह जानकारी दी। अधिकारी ने कहा कि दोनों महिला हॉकी खिलाड़ी सुनंदिनी बागे (23) और श्रद्धा सोरेंग (18) शनिवार से लापता थी। सिमडेगा जिले के बीरू गांव में रविवार को उनके शव एक पेड़ से लटके हुए पाए गए। सुनंदिनी और श्रद्धा के परिजनों ने आरोप लगाया कि उनकी हत्या की गई है।

झारखण्ड
प्रतिक्रत्मक फोटो

अधिकारी ने कहा कि परिवार के सदस्यों द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत के आधार पर अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 302 (हत्या) के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है। सोमवार को सिमडेगा सदर अस्पताल में शवों का पोस्टमार्टम किया गया और उनके पैतृक निवास स्थान पर उनका अंतिम संस्कार किया गया। सिमडेगा के पुलिस अधीक्षक संजीव कुमार ने मंगलवार को कहा कि दो खिलाड़ियों की मौत के पीछे के रहस्य को बहुत जल्द सुलझा लिया जाएगा।

हालांकि, उन्होंने यह बताने से इनकार कर दिया कि यह हत्या का मामला है या आत्महत्या का मामला है। उन्होंने कहा कि इस समय इस तरह के खुलासे से जांच पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा। उन्होंने कहा, ‘‘हमने झारखंड और ओडिशा के कई लोगों से पूछताछ की है और कुछ महत्वपूर्ण सुराग जुटाए हैं। वास्तव में, हमारी एक टीम अभी भी राउरकेला में डेरा डाले हुई है। उनके शाम को लौटने की उम्मीद है।

कुमार ने समाचार एजेंसी पीटीआई (भाषा) को बताया, ‘‘मृतकों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट शाम तक या कल सुबह तक हमारे पास पहुंचने की उम्मीद है। उसके बाद ही हम कुछ कह पाने की स्थिति में होंगे।’’ श्रद्धा सिमडेगा जिले के पत्रटोली गांव की रहने वाली थी और सुंदरगढ़ जिले के बीरमित्रपुर में एक स्कूल की छात्रा थी, जबकि सुनंदिनी ओडिशा के सुंदरगढ़ जिले के गिपिटोला लचरा गांव की रहनेवाली थी। दोनों राउरकेला में एक हॉकी प्रशिक्षण केंद्र में प्रशिक्षण लिया करती थी और दोस्त बन गई थी।

एसपी ने कहा, ‘‘हालांकि, वे नियमित रूप से एक साथ नहीं रहती थीं, लेकिन वे दोनों सिमडेगा और सुंदरगढ़ में एक-दूसरे के घर पर अक्सर आती-जाती रहती थी।’’ (इंपुट: भाषा के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here