कोलकाता: विश्वविद्यालय में जनसंघ के संस्‍थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी की नेम प्लेट पर पोती गई काली स्याही

0

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता स्थित प्रेसिडेंसी विश्वविद्यालय में संगमरमर की दीवार पर लिखे भारतीय जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम पर सोमवार(19 मार्च) को किसी ने काली स्याही डाल दी। बता दें कि, इससे पहले भी कोलकाता में श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ति तोड़े जाने का मामला सामने आया था।

photo- aajtak

न्यूज़ एजेंसी भाषा की ख़बर के मुताबिक, यह घटना जनसंघ के संस्थापक की शहर में एक मूर्ति को विरूपित करने के कुछ दिनों बाद हुई है। प्रतिष्ठित संस्थान की मुख्य इमारत के भूतल पर यह दीवार है, जिसमें प्रेसिडेंसी कॉलेज के प्रतिष्ठित पूर्व छात्रों का नाम लिखा हुआ है। कॉलेज अब विश्वविद्यालय है। मुखर्जी1922 में कॉलेज से अंग्रेजी में प्रथम श्रेणी के साथ स्नातक हुए थे।

विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार देबज्योति कोनार ने पीटीआई(भाषा) से कहा कि संस्थान के स्टाफ ने सुबह सबसे पहले मुखर्जी के नाम पर स्याही झिड़की हुई देखी और अधिकारियों को सतर्क किया। घटना की निंदा करते हुए पश्चिम बंगाल के शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने संवाददाताओं से कहा कि घटना की जांच की जानी चाहिए और अपराधियों की पहचान होनी चाहिए। उन्होंने कहा, ‘विश्वविद्यालय को सुनिश्चित करना चाहिए कि कृत्य के लिए जिम्मेदार लोगों को उचित तरीके से सजा मिले।’

कोनार ने कहा कि पांच सदस्य एक उच्चस्तरीय समिति गठित की गई है। इस समिति में डीन ऑफ स्टूडेंस और विश्वविद्यालय के अन्य आला अधिकारी शामिल हैं, जो घटना की जांच करेगी और दोषियों की पहचान करेगी। उन्होंने कहा, ‘सीसीटीवी फुटेज की जांच की जा रही है। विश्वविद्यालय नियमों के मुताबिक घटना में शामिल लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।’

माकपा की छात्रा इकाई एसएफआई ने घटना की निंदा की। इसने एक बयान में कहा कि ऐसे कृत्य संस्थान की पंरपराओं के खिलाफ हैं।

बता दें कि, इससे पहले 7 मार्च को जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ति तोड़े जाने का मामला सामने आया था। कोलकाता में वाममोर्चा के एक छात्र संगठन के सदस्यों ने 7 मार्च को कथित तौर पर श्यामा प्रसाद मुखर्जी की प्रतिमा क्षतिग्रस्त कर दी और प्रतिमा के चेहरे पर कालिख पोत दी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here