बीजेपी समर्थकों ने मक्का की तस्वीर शेयर कर बोले- देख लो बीजेपी राज में सोने की तरह सजी कुंभ नगरी

0

केंद्र में सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के समर्थकों पर उनके आलोचक द्वारा ये आरोप लगाते हैं कि वे अक्सर झूठे दावे करने या फिर अपने विरोधियों को बदनाम करने के लिए फोटोशॉप तस्वीरों का इस्तेमाल करते रहते है। खासकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह द्वारा पार्टी के मामलों की जिम्मेदारी संभालने के बाद यह घटना लगातार बढ़ती जा रही है।

बीजेपी

बीजेपी को हमेशा अपने राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों की तुलना में सोशल मीडिया का बेहतर इस्तेमाल करने का श्रेय दिया जाता है। लेकिन मोदी व बीजेपी समर्थकों को व्हाट्सएप व फेसबुक के माध्यम से सोशल मीडिया साइट्स का उपयोग करके फर्जी तस्वीरों को शेयर करवाना और लोगों को गलत जानकारी देना कई बार शर्मिंदगी का भी कारण बन जाता है। एक बार फिर बीजेपी समर्थक फर्जी तस्वीर शेयर करते हुए पाए गए हैं।

दरअसल, उत्तर प्रदेश के प्रयागराज (पहले इलाहाबाद) में कुंभ मेला जारी है। यहां लाखों की संख्या श्रद्धालु इक्टठा हुए हैं। कुम्भ मेले की तस्वीरें सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहीं हैं। इन तस्वीरों में एक फोटो काफी ज्यादा वायरल हो रही है जिस पर लिखा है कि यह कुंभ मेले की है, लेकिन जांच में पता चला है कि वायरल हो रही तस्वीर दरअसल कुंभ मेले की नहीं है।

वायरल फोटो पर एक संदेश भी लिखा है, जिसका शीर्षक है, “सोने की तरह सजी कुंभ नगरी प्रयागराज देख लो देशवासियों यह हैं बीजेपी राज।” व्हाट्सएप, फेसबुक के अलावा अन्य सोशल मीडिया साइट्स पर भी इस तस्वीर को जमकर शेयर किया जा रहा है। बीजेपी और पीएम मोदी के करीब सभी समर्थकों द्वारा इस तस्वीर को शेयर किया गया है।

हालांकि, जब हमने इसकी पड़ताल शुरू की तो हमें पता चला कि यह तस्वीर प्रयागराज की नहीं बल्कि सऊदी अरब के प्रसिद्ध मक्का मस्जिद की है, जो वार्षिक हज यात्रा के दौरान ली गई थी।

हालांकि, हमने इस तस्वीर की तह तक जाने के लिए आधिकारिक कुंभ वेबसाइट https://kumbh.gov.in पर भी जा कर देखा कि क्या बीजेपी समर्थकों द्वारा शेयर की गई यह तस्वीर यहां पर भी दिखाया गया है। लेकिन हमें यह वायरल तस्वीर यहां पर नहीं मिली।

‘जनता का रिपोर्टर’ द्वारा एक तथ्य-जांच में पता चला की बीजेपी समर्थकों द्वारा वायरल की गई यह तस्वीर फर्जी हैं।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here