पश्चिम बंगाल विधानसभा उपचुनाव में मिली करारी हार के बाद BJP ने EVM पर उठाए सवाल

0

पश्चिम बंगाल में हुए विधानसभा उपचुनाव में राज्य की सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) ने तीनों सीटों पर जीत दर्ज की। सत्तारूढ़ दल द्वारा जीती गई तीन सीटें खड़गपुर, करीमपुर सदर और कालीगंज हैं। पश्चिम बंगाल में विधानसभा की तीन सीटों पर 25 नवंबर को हुए उपचुनाव की मतगणना गुरुवार को हुई थी। तीन सीटों के विधानसभा उपचुनाव में हार के पीछे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने धांधली की आशंका जताई है। पश्चिम बंगाल के भाजपा नेता और पार्टी के राष्ट्रीय सचिव राहुल सिन्हा ने कहा कि राज्य की मशीनरी ने चुनाव में सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस का खुलकर सहयोग किया। इसकी शिकायत चुनाव आयोग से की जाएगी। राहुल सिन्हा ने ईवीएम को लेकर भी संदेह जाहिर किया।

फाइल फोटो

भाजपा नेता राहुल सिन्हा ने समाचार एजेंसी आईएएनएस से कहा, “वैसे केंद्रीय चुनाव आयोग निगरानी करता है, मगर उपचुनाव का क्रियान्वयन तो राज्य ही करता है। तृणमूल सरकार जीतने के लिए कुछ भी कर सकती है।” क्या आपका शक ईवीएम पर है, इस सवाल पर भाजपा नेता ने कहा, “ईवीएम के अंदर या बाहर कुछ भी हो सकता है। मतगणना में सत्ताधारी दल की धांधली से इनकार नहीं किया जा सकता। इसकी शिकायत आयोग से हम करेंगे।” शक की वजह गिनाते हुए राहुल सिन्हा ने कहा कालियागंज और खड़गपुर सदर विधानसभा सीट पर लोकसभा चुनाव के दौरान भाजपा को भारी बढ़त मिली थी। जबकि कालियागंज और करीमपुर में 2016 के विधानसभा चुनाव की तुलना में भाजपा ने काफी ज्यादा वोट हासिल किए।

फिर भी तीनों सीटों पर हार गले नहीं उतर रही है। सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस को पहली बार खड़गपुर में जीत मिली, यह सब चौंकाने वाली बात है। मीडिया से लेकर आम जनमानस के बीच तीनों सीटों पर भाजपा की जीत की चर्चा चल रही थी। बता दें कि, हाल ही में हुए उपचुनाव में कालियागंज सुरक्षित सीट पर तृणमूल कांग्रेस के तपन देब सिन्हा ने 97428 वोट पाकर भाजपा के कमल चंद्र सरकार को हराया। यहां कांटे के मुकाबले में भाजपा 2414 वोटों से हारी। भाजपा प्रत्याशी कमल चंद्र सरकार को 95014 वोट मिले। वहीं, महज 18857 वोट पाकर कांग्रेस तीसरे स्थान पर रही।

करीमपुर में तृणमूल कांग्रेस प्रत्याशी बिमलेंदु सिन्हा रॉय को 103278 वोट मिले, वहीं भाजपा प्रत्याशी जय प्रकाश मजूमदार को 79368 मत मिले। जबकि सीपीआई (एम) प्रत्याशी को 18627 वोट हासिल हुए। यहां तृणमूल ने भाजपा को 23,910 वोटों से हराया। खड़गपुर सदर सीट पर तृणमूल कांग्रेस प्रत्याशी प्रदीप सरकार को 72889 वोट जबकि भाजपा प्रत्याशी प्रेम चंद्र झा को 52013 वोट मिले। कांग्रेस प्रत्याशी चितरंजन मंडल को 22629 वोट मिले। इस प्रकार यहां भाजपा को 20876 वोटों से हार का सामना करना पड़ा।

टीएमसी को जीत मिलने के बाद सीएम ममता बनर्जी ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा था कि, ‘भाजपा अपने अहंकार का परिणाम भुगत रही है।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here