टीपू सुल्तान जयंती: कर्नाटक में सुरक्षा के इंतजामों के बावजूद बस पर फेंके गए पत्थर, BJP ने किया विरोध प्रदर्शन

0

कर्नाटक में अठारहवीं सदी के महान शासक टीपू सुल्तान की जयंती को लेकर सियासी घमासान छिड़ा हुआ है। कर्नाटक सरकार आज टीपू सुल्तान की जयंती मना रही है, इसके लिए राजधानी सहित पूरे राज्य में सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं।

लेकिन उसके बाद भी सुबह से ही भाजपा कार्यकर्ताओं ने जगह जगह प्रदर्शन किया। कर्नाटक के कोडागू जिले में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने जमकर हंगामा किया तो हुबली में भी उन्होंने प्रदर्शन किया। जिसके बाद पुलिस ने कुछ कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया। इस दौरान राज्य के मदिकेरी में राज्य परिवहन की बस पर पथराव किया गया है। वहीं कोडगु में धारा 144 लागू कर दी गई है।

ख़बरों के मुताबिक, राज्य भर में इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए 11 हजार पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं। वहीं, राज्य भर में शराब की बिक्री भी रोकी गई है। सिद्धारमैया के नेतृत्व वाली सरकार यहां तीन सालों से 18 सदी के दौरान मैसूर के शासक रहे टीपू को स्वतंत्रता सेनानी के रूप में सम्मानित कर रही है।

बता दें कि राज्य की सिद्दारमैया के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार ने दो वर्ष पहले टीपू जयंती मनाना शुरू किया था। टीपू सुल्तान की जयंती मनाए जाने का यूं तो बीजेपी सहित कुछ हिंदूवादी संगठन हर साल विरोध करते हैं।

लेकिन इस बार केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े द्वारा टीपू को खुलकर ‘हिंदू विरोधी’ करार दिए जाने बाद इसे लेकर सोशल मीडिया पर काफी बहस चल रही है। शुक्रवार सुबह से ही संवेदनशील इलाकों में पुलिस बल तैनात किया गया है, लेकिन प्रदर्शनकारी भी सुबह से ऐक्टिव हो गए हैं।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here