ओडिशा: BJP राष्ट्रीय कार्यकारणी की बैठक जारी, भुवनेश्वर में PM मोदी ने किया रोड शो

0

भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक शनिवार(15 अप्रैल) को ओडिशा के भुवनेश्वर में शुरू हो गई है। जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ओडिशा समेत कोरोमंडल क्षेत्र में पार्टी के प्रभाव बढ़ाने की रूपरेखा पेश कर सकते हैं।

बीजेपी की इस दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक में हिस्सा लेने पीएम नरेंद्र मोदी भी पहुंचे हैं। पीएम मोदी ने यहां रोड शो भी किया और इसके बाद वो राजभवन पहुंचे। पीएम मोदी के रोड शो में भारी संख्या में लोग सड़कों पर उमड़े हुए नजर आए। पीएम मोदी ने भी अपनी गाड़ी से बाहर निकलकर लोगों का अभिनंदन स्वीकार किया। गौरतलब है कि इस क्षेत्र में पार्टी पारंपरिक तौर पर कमजोर मानी जाती है।

Also Read:  इस शख्स ने 'पार्वती' को भेजा शादी का ऑफर, ठुकराने पर भेजने लगा अश्लील मैसेज, पुलिस ने गिया गिरफ्तार

https://youtu.be/JWdFIPRift4

राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक ऐसे समय में हो रही है जब बीजेपी ने उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में जबर्दस्त जीत दर्ज की है, साथ ही गोवा और मणिपुर में सरकार बनाने में सफल रही है। ओडिशा के भुवनेश्वर में 15 और 16 अप्रैल को बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक हो रही है। इसमें पीएम मोदी, बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह सहित सभी बीजेपी शासित राज्यों के मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्रियों समेत पार्टी के वरिष्ठ नेता मौजूद रहेंगे।

Also Read:  नोटबंदी के फैसले पर अरुण शौरी ने खुलकर की मोदी की आलोचना कहा, कुएं में कूदना और खुदकुशी करना भी क्रांतिकारी कदम होता है

पिछले महीने ओडिशा के स्थानीय निकाय चुनावों में मिली जीत के बाद बीजेपी ने भुवनेश्वर में राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक करने का फैसला किया है। बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व को लगता है कि 2019 में लोकसभा और विधानसभा चुनाव में बड़ी जीत के लिए अभी से तैयारी शुरू की जानी चाहिए। पार्टी ओडिशा और पश्चिम बंगाल पर विशेष ध्यान दे रही है।

Also Read:  अभिनेत्री को बदमाशों ने अगवाकर किया यौन उत्पीड़न, एक आरोपी गिरफ्तार

ओडिशा में साल 2000 से बीजद प्रमुख और मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के नेतृत्व में सरकार है। दरअसल, बीजेपी को लगता है कि ओडिशा में सरकार विरोधी रुख का उसे लाभ मिल सकता है, क्योंकि कांग्रेस वहां कमजोर हुई है। बीजेपी का विशेष जोर उन 120 सीटों पर है, जिनमें वह जीत दर्ज नहीं कर पाई, लेकिन उसे जीत हासिल करने की उम्मीद है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here