भाजपा सांसद सौमित्र खान ने तृणमूल कांग्रेस में शामिल हुईं पत्नी सुजाता मंडल खान को भेजा तलाक का नोटिस

0

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सियासी लड़ाई ने अब पारिवारिक लड़ाई का रूप ले लिया है। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता और पार्टी सांसद सौमित्र खान की पत्नी सुजाता मंडल खान के तृणमूल कांग्रेस में शामिल होते ही आपसी कलह शुरू हो गई है। सौमित्र खान ने तृणमूल कांग्रेस का दामन थामने वाली अपनी पत्नी सुजाता मंडल खान को मंगलवार को तलाक का नोटिस भेज दिया है।

सौमित्र खान

खान के वकील ने परस्पर सहमति से तलाक का नोटिस भेजा है और विवाह संबंध तोड़ने के लिए उसमें कई मसले गिनाए गए हैं। पश्चिम बंगाल के बिष्णुपुर से सांसद सौमित्र खान की पत्नी सुजाता ने सोमवार को तृणमूल का दामन थामा जिसने उनकी 10 साल की शादी की नींव हिला दी और सांसद ने उन्हें तलाक देने की चेतावनी दी।

एक टीवी चैनल से बात करते हुए भाजपा सांसद ने कहा कि, वह मेरा प्यार था। वह मेरी राजनीति नहीं थी। मैं अब तृणमूल कांग्रेस को तोड़ने के लिए 24 घंटे काम करूंगा। सौमित्र खान ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह दोनों ने उन्हें अपनी बेटी की तरह माना। उन्होंने कहा कि, तलाक का नोटिस भेजने के बाद मैं केवल भाजपा के लिए काम करूंगा। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि मेरे खिलाफ व्यक्ति सुजाता है या कोई और।

बिश्नुपुर से सांसद सौमित्र खान ने कहा कि वह सुजाता मंडल को तलाक का नोटिस भेज रहे हैं और “10 साल का संबंध” तोड़ रहे हैं। खान ने कहा, “आपको कुछ लोग इस्तेमाल कर रहे हैं जो पति-पत्नी के बीच दरार पैदा करने से भी हिचकते नहीं हैं जो 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान एक-दूसरे के साथ खड़े थे। जी हां आप बिश्नुपुर लोकसभा सीट पर प्रचार के दौरान मेरा स्तंभ थीं।”

उन्होंने कहा, “आप (सुजाता) इतने आगे तक इसलिए आई हैं, क्योंकि आपने जय श्रीराम का नारा लगाया था, आपने (नरेंद्र) मोदी जी के पक्ष में नारे लगाए थे, क्योंकि आप सौमित्र खान की पत्नी थीं।” सांसद ने कहा, “कृपया अब से “खान” उपनाम का इस्तेमाल करने से बचें। कृपया खुद को सौमित्र खान की पत्नी नहीं बताएं। मैं आपको अपने स्वयं के राजनीतिक भाग्य की योजना बनाने की स्वतंत्रता दे रहा हूं। लेकिन कृपया यह मत भूलिएगा कि आप उनका साथ ले रही है जिन्होंने मेरे भाजपा में शामिल होने के बाद 2019 में आपके माता-पिता के घर पर हमला किया था।”

बता दें कि, सौमित्र खान की पत्नी सुजाता मंडल खान भगवा खेमे को छोड़कर सोमवार को तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) में शामिल हो गईं थी। उनका दावा है कि 2019 के लोकसभा चुनाव में अपने पति को जिताने के लिए कई जोखिम उठाने के बावजूद उन्हें वाजिब पहचान नहीं मिली। टीएमसी सांसद सौगत रॉय और पार्टी प्रवक्ता कुणाल घोष की मौजूदगी में तृणमूल कांग्रेस में शामिल होने के बाद सुजाता मंडल ने कहा था, “पति को संसद के लिए निर्वाचित कराने के वास्ते शारीरिक हमले झेलने समेत काफी बलिदान देने के बावजूद मुझे बदले में कुछ नहीं मिला… मैं हम सबकी प्रिय नेता ममता बनर्जी और हमारे दादा अभिषेक बनर्जी के मातहत काम करना चाहती हूं।” (इंपुट: भाषा के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here