गुजरात चुनाव: एग्जिट पोल के विपरीत BJP सांसद ने ही की पार्टी की हार की भविष्यवाणी

0

गुजरात में दूसरे चरण के मतदान के बाद गुरुवार (14 दिसंबर) को विभिन्न टीवी चैनलों पर आए एग्जिट पोल में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को स्पष्ट बहुमत दिखाया गया। लेकिन बीजेपी के ही एक सांसद एग्जिट पोल से सहमत नहीं है। जी हां, महाराष्ट्र से बीजेपी के राज्यसभा सांसद संजय काकड़े का दावा है कि उनके सर्वे के मुताबिक गुजरात में पार्टी का प्रदर्शन वैसा नहीं होगा जैसी सबको उम्मीद है। उन्होंने यहां तक कहा कि पार्टी को शायद इस बार मुख्यमंत्री की कुर्सी हाथ न लगे।

(AP File Photo)

बीजेपी सांसद काकड़े ने बताया कि उनकी टीम ने गुजरात में एक सर्वे किया है और उनका दावा सर्वेक्षण के नतीजों पर आधारित है। उन्होंने कहा कि मैंने छह लोगों की एक टीम गुजरात भेजी थी। वे ज्यादातर ग्रामीण इलाकों में गए जहां वे लोग किसानों, चालकों, वेटरों और श्रमिकों से मिले।

उनके सर्वेक्षण के आधार पर और खुद के अवलोकन से मुझे लगता है कि बीजेपी को गुजरात में पूर्ण बहुमत नहीं मिलेगा। काकड़े ने अपने अनुमान के लिए बीजेपी सरकार के खिलाफ सत्ता विरोधी लहर का जिक्र किया। सांसद की मानें तो सर्वे में 72 फीसद लोगों ने कांग्रेस को पसंद किया है। सांसद ने आगे यह भी कहा कि चुनाव प्रचार के दौरान उनकी पार्टी ने विकास के मसले पर बात नहीं की।

संजय काकड़े के मुताबिक बीजेपी सबसे लंबे समय तक गुजरात में सत्ताधारी पार्टी रही है और हो सके तो इसी वजह से सरकार के खिलाफ माहौल पार्टी को नुकसान पहुंचा सकता है। इसके अलावा मुस्लिम समुदाय भी बीजेपी से नाखुश है।
बीजेपी सांसद ने कहा कि जब से मोदी प्रधानमंत्री बने हैं, वह राज्य से जुड़े मुद्दों पर उस तरह से ध्यान नहीं दे सके हैं जैसे मुख्यमंत्री रहते हुए दे पाते थे।




साथ ही बीजेपी सांसद ने यह भी कहा कि पिछले तीन साल में ऐसा कोई उम्मीदवार नहीं हुआ जो सीएम के पद पर मोदी की जगह ले सके। हालांकि काकड़े ने कहा कि यदि फिर भी पार्टी ने राज्य में सत्ता कायम रखी तो भी यह सिर्फ और सिर्फ पीएम मोदी के चलते होगी। इसके अलावा बीजेपी सांसद ने पाटीदार नेता हार्दिक पटेल की कथित सेक्स सीडी जारी करने को भी गलत बताया है। उनका मानना है कि इस तरह से हार्दिक से निपटने की कोशिश एक गलत कदम था।

बता दें कि विभिन्न टीवी चैनलों ने गुजरात विधानसभा चुनावों को लेकर हाल में एग्जिट पोल जारी किए थे, जिसमें बीजेपी को 100 से अधिक सीटें मिलने का अनुमान है। गुजरात में सरकार बनाने के लिए किसी भी दल को 92 सीटें जीतने की आवश्यकता है। वर्ष 2012 के गुजरात विधानसभा चुनाव में बीजेपी को 115, कांग्रेस को 61 और अन्य दलों को छह सीटों पर जीत मिली थी।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here