VIDEO: बीजेपी विधायक के विवादित बोल, कहा- सरकार मुझे मंत्रालय दे, जो देश में असुरक्षित और डरा महसूस करते हैं, उन्हें बम से उड़ा दूंगा

0

अपने विवादित बयानों को लेकर हमेशा मीडिया की सुर्खियों में रहने वाले उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर के खतौली से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के विधायक विक्रम सैनी ने एक बार फिर से विवादित बयान दिया है, जिसे सुनकर आप भी चौंक जाएंगे। विक्रम सैनी ने धमकी देते हुए कहा कि जो भारत में कह रहे हैं कि वे असुरक्षित महसूस कर रहे हैं उन्हें बम से उड़ा देना चाहिए। विक्रम सैनी के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस ने कहा कि विधायक को गिरफ्तार कर सजा दी जानी चाहिए, वह एक आतंकवादी की तरह बात कर रहे हैं।

बीजेपी
फाइल फोटो- बीजेपी विधायक विक्रम सैनी

मीडिया से बात करते हुए विधायक विक्रम सैनी ने कहा, ‘ऐसे लोगों को जनता जवाब दे देगी। ये देशद्रोही हैं, जो कहते हैं कि हमें यहां खतरा हम यहां सुरक्षित नहीं है। ऐसे लोगों का कुछ न कुछ इंतजाम होना चाहिए। ऐसा कानून बने कि कोई ऐसा बोले तो यह देशद्रोह की श्रेणी में आए और उसके लिए सजा का प्रावधान हो।’ बम फोड़ने की बात पर सैनी ने कहा, ‘यह मेरी आम भाषा है, मेरी गांव की भाषा है। मुझे एक मंत्रालय दे दिया जाए मैं इस तरह के सभी इंसानों को बम से उड़ा दूंगा, किसी को भी नहीं छोड़ूंगा।’

बीजेपी विधायक ने कहा कि ऐसे लोगों को इस देश में रहने का हक नहीं है। सैनी बोले, वे क्यों यहां रह रहे हैं। खतरा महसूस कर रहे हैं तो जहां सुरक्षित हों वहां चले जाएं। यह पूछने पर कि ऐसे लोगों पर वह मानव बम बनकर फूटेंगे, सैनी ने कहा, ‘ऐसा बम बनवाकर…सेना के पास बहुत बम हैं, उन्हें फोड़वा दूंगा.. सरकार मुझे मौका तो दे।’ हालांकि इस दौरान बीजेपी विधायक ने यह भी कहा कि यह मेरी व्यक्तिगत भावना है। इसे पार्टी से न जोड़ें।

बीजेपी विधायक विक्रम सैनी के बयान पर राज्य के कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक राज बब्बर ने कहा, ‘मुख्यमंत्री ने कहा कि ठोक दो, विधायक कह रहे हैं बम से उड़ा दो। विधायक को गिरफ्तार कर सजा दी जानी चाहिए। वह एक आतंकवादी की तरह बात कर रहे हैं। उनके टेरर लिंक की जांच की जानी चाहिए।’

गौरतलब है कि अभी कुछ दिन पहले बॉलीवुड अभिनेता नसीरुद्दीन शाह ने हाल ही में भीड़ द्वारा की गई हिंसा का परोक्ष हवाला देते हुए कहा था कि एक गाय की मौत को एक पुलिस अधिकारी की हत्या से ज्यादा तवज्जो दी जा रही है। साथ ही अभिनेता ने कहा था कि जहर पहले ही फैल चुका है और अब इसे रोक पाना मुश्किल होगा। इस जिन्न को वापस बोतल में बंद करना मुश्किल होगा। जो कानून को अपने हाथों में ले रहे हैं, उन्हें खुली छूट दे दे गई है।

नसीरुद्दीन शाह ने आगे कहा था कि मुझे डर लगता है कि किसी दिन गुस्साई भीड़ मेरे बच्चों को घेर सकती है और पूछ सकती है, तुम हिंदू हो या मुसलमान? इस पर मेरे बच्चों के पास कोई जवाब नहीं होगा। क्योंकि मैंने मेरे बच्चों को मजहबी तालीम नहीं दी है। अच्छाई और बुराई का मजहब से कोई लेना-देना नहीं है।नसीरुद्दीन शाह के इस बयान के बाद कई संगठनों ने उनका विरोध जाताया था।

नसीरुद्दीन शाह के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और बीजेपी के समर्थन में हमेशा खड़े दिखाई देने वाले मशहूर अभिनेता अनुपम खेर ने कहा था कि, ‘देश में इतनी आजादी है कि सेना को अपशब्द कहे जा सकते हैं, एयर चीफ की बुराई की जा सकती है और सैनिकों पर पथराव किया जा सकता है। आपको इस देश में और कितनी आजादी चाहिए? उन्हें (नसीरुद्दीन शाह) जो कहना था वह कह दिया, लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि जो कहा वह सच है।’

वहीं, पतंजलि आयुर्वेद कंपनी के संस्थापक और योग गुरु बाबा रामदेव ने कहा था कि, ‘नसीरुद्दीन शाह को आम आदमी से मिले प्यार के चलते प्रसिद्धि मिली है। मुझे कहीं कोई सांप्रदायिक असहिष्णुता नहीं दिखाई देती, वास्तव में मुझे राजनीतिक असहिष्णुता दिखती है। मेरा मानना है कि भारत पर सांप्रदायिक असहिष्णु होने का आरोप लगाना देश का स्वाभिमान गिराने के बराबर है।’

उन्होंने कहा कि ऐसा कोई देश नहीं जहां कोई आतंरिक हिंसा और असहिष्णुता नहीं है लेकिन कोई भी अपने देश पर आरोप नहीं लगाता। उन्होंने कहा, ‘अपने ही देश पर सांप्रदायिक असहिष्णुता का आरोप लगाना अपमानजनक, कृतघ्न और देशद्रोह के बराबर है।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here