आचार संहिता और सुप्रीम कोर्ट के आदेश की धज्जियां उड़ाता बीजेपी विधायक सुरेश राणा का विवादित बयान, कहा जीतने पर लगवा देगें कैराना, देवबंद और मुरादाबाद में कर्फ्यू

0

विधानसभा चुनावों के कारण आचार संहिता लगी हुई है। इसके अलावा सुप्रीम कोर्ट ने भी ऐतिहासिक फैसला देते हुए कहा है कि चुनाव में धर्म के नाम पर वोट मांगना गैरकानूनी है। लेकिन बीजेपी विधायक सुरेश राणा ने सुप्रीम कोर्ट और चुनाव आयोग कि परवाह किए बिना विवादित बयान दिया है। राणा जीतने पर कैराना, देवबंद और मुरादाबाद में कर्फ्यू लगाने की बात बोल रहे हैं।

पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए धर्म के नाम पर वोट मांगने वालों पर कड़ा फैसला लेते हुए कहा कि धर्म के नाम पर वोट मांगना गैरकानूनी होगा। सुप्रीम कोर्ट ने कहा,  चुनाव एक धर्मनिरपेक्ष पद्धति है। इस आधार पर वोट मांगना संविधान की भावना के खिलाफ है। जन प्रतिनिधियों को भी अपने कामकाज धर्मनिरपेक्ष आधार पर ही करने चाहिए। आने वाले पांच राज्‍यों में इसका असर होने की संभावना है।

इसके अलावा चुनाव आयोग ने भी सख्त रूख अपनाते हुए आचार संहिता का पालन ना करने वालों के खिलाफ कड़ी कारवाई का आश्वासन दिया था। इस बात का पालन पीएम मोदी तक को करना पड़ा। उन्होंने कल रेडियो पर मन की बात के प्रसारण पर चुनाव की कोई भी बात नहीं की। लेकिन बीजेपी के विधायक सुरेश राणा ने सुप्रीम कोर्ट और चुनाव आयोग की धज्जिया उड़ा दी है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कथित तौर पर मुज़्ज़फरनगर दंगों में उल्लेखनीय नाम सुरेश राणा ने थाना सभा के शामली इलाके में एक सभा को संबोधित किया। बीजेपी विधायक राणा कहते हैं कि यदि मैदान मार लिया तो कैराना, देवबंद, मुरादाबाद में कर्फ्यू लग जाएगा।

जिन इलाकों में बीजेपी विधायक कर्फ्यू लगाने की बात कह रहे है वह सब मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र है। लोगों को धार्मिक आधार पर इतनी संगीन बात कहने पर जिसमें वह पहले से ही अपने जीतने पर कर्फ्यू लगवा देने जैसी घोषणा की दी है। इसके बाद अभी तक यूपी पुलिस सक्रिय नहीं हुई है जबकि इतने विवादित बयान के बाद ना ही चुनाव आयोग हरकत में आया है ना ही यूपी पुलिस अपनी कारगुजारी दिखा रही है।

https://twitter.com/Uppolice/status/825731831442001920

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here