‘पद्मावत’ विवाद: BJP विधायक बोले- ‘अगर आप देशभक्त हैं तो फिल्म न देखें’

0

सुप्रीम कोर्ट ने संजय लीला भंसाली की विवादित फिल्म ‘पद्मावत’ की 25 जनवरी को देश भर में रिलीज का रास्ता साफ कर दिया है। शीर्ष न्यायालय ने बीजेपी शासित राज्य राजस्थान, हरियाणा, गुजरात और मध्य प्रदेश सरकारों की ओर से इन राज्यों में फिल्म के प्रदर्शन पर रोक लगाने वाली अधिसूचनाओं और आदेशों पर गुरुवार (18 जनवरी) को रोक लगा दी। अब यह फिल्म 25 जनवरी को देश भर के सभी राज्यों में रिलीज होगी।

हालांकि, सुप्रीम कोर्ट द्वारा ‘पद्मावत’ को रिलीज की हरी झंडी दिए जाने के बाद भी फिल्म को लेकर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है।

टाइम्स ऑफ़ इंडिया की ख़बर के मुताबिक, हैदराबाद के बीजेपी विधायक टी राजा सिंह ने कहा कि, आप जैसे मर्जी विरोध कर सकते हैं। अगर आप देशभक्त हैं तो फिल्म न देखें, एक बार उन्हें नुकसान होगा, तो अगली बार वे इतिहास और तथ्यों से छेड़छाड़ नहीं करेंगे। थिएटर जला दें या तोड़ें, ये आपके ऊपर है, लेकिन फिल्म न देखें।

साथ ही उन्होंने कहा कि, राजपूत समुदाय और हिंदू समुदाय के प्रयासों के बाद फिल्म पर चार राज्यों पर प्रतिबंध लगा दिया गया था, लेकिन अदालत ने फिल्म जारी करने का आदेश दिया।

आगे बीजेपी विधायक ने कहा कि, निर्देशक ने फिल्म का नाम बदल कर ‘पद्मावती’ से ‘पद्मवत’ कर दिया है लेकिन स्क्रिप्ट नहीं बदली है। इसलिए मैं देशभक्तों को फिल्म का बहिष्कार करने का अनुरोध करता हूं।

बता दें कि, बीजेपी शासित राज्य राजस्थान, हरियाणा और मध्य प्रदेश की सरकार के वरिष्ठ मंत्रियों ने कहा है कि अभी सुप्रीम कोर्ट के आदेश की कॉपी का इंतजार किया जा रहा है। उन्होंने कहा है कि इस मामले में फिर से अपील करने के रास्ते तलाशे जाएंगे।

बता दें कि, सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार(18 जनवरी) को फिल्म प्रतिबंध पर अंतरिम रोक लगाते हुए कहा था कि कानून-व्यवस्था बनाए रखने की जिम्मेदारी राज्य सरकारों की है।

वहीं दूसरी ओर फिल्म के रिलीज के विरोध में राजपूत महिलाओं ने 24 जनवरी को जौहर का ऐलान किया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इसके लिए अब तक 1800 महिलाओं ने रजिस्ट्रेशन करा चुकी है। ये सारी महिलाएं चित्तौड़गढ़ किले में फिल्म रिलीज होने पर जौहर करने की तैयारी कर रही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here