उत्तर प्रदेश: पुलिस थाने के बाहर धरने पर बैठे बीजेपी विधायक, बोले- रिश्वत के बिना नहीं होता कोई काम

0

उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले में एक पुलिस थाने में कथित भ्रष्टाचार के खिलाफ रविवार को एक बीजेपी विधायक धरने पर बैठ गए। उन्होंने स्थानीय थाने के दारोगा और सिपाहियों को महाभ्रष्ट करार देकर जनता का शोषण करने का आरोप लगाया। साथ ही उन्होंने कहा कि, जब तक पूरे स्टाफ का तबादला नहीं हो जाता वह धरने से नहीं उठेंगे।

उत्तर प्रदेश

मथुरा जिले के बलदेव क्षेत्र से बीजेपी विधायक पूरन प्रकाश शाम चार बजे से महाबन पुलिस थाने के सामने धरने पर बैठ गए। समाचार एजेंसी भाषा की रिपोर्ट के मुताबिक, प्रकाश ने आरोप लगाया ‘पूरा पुलिस थाना भयानक भ्रष्टाचार की गिरफ्त में है।’ उन्होंने कहा कि जब तक थाना प्रभारी अरविंद पाल, उप निरीक्षकों अरविंद चौहान एवं अजय हवाना को निलंबित नहीं किया जाता और पुलिस थाने के सभी कर्मचारियों का तबादला नहीं होता तब तक धरना जारी रहेगा।

उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस थाने में रिश्वत के बिना कोई काम नहीं होता और थाना प्रभारी एवं दोनों उपनिरीक्षक अक्सर लोगों के साथ दुर्व्यवहार करते हैं।

बता दें कि कुछ दिनों पहले ही योगी आदित्यनाथ सरकार में पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री और सहयोगी पार्टी भारतीय समाज पार्टी (सुहेलदेव) के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने अपनी ही सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए कहा था कि सरकार में भ्रष्टाचार कम नहीं हुआ है बल्कि बढ़ रहा है।

ओम प्रकाश राजभर ने वाराणसी में कहा था कि लोगों को पुलिस में शिकायत ना करने के लिए दबाव बनाया जा रहा है। जो लोग थाने में शिकायत कराने जा भी रहे हैं उनके साथ गलत व्यवहार होता है और उन्हें गालियां तक दी जाती हैं। राजभर ने आरोप लगाया था कि एंटी भू माफिया अभियान के तहत गरीबों का शोषण किया जा रहा है।

साथ ही राजभर ने कहा था कि, योगी महाराज अगर आप भ्रष्टों का सपोर्ट करते हैं तो फिर मैं आपके साथ नहीं रहूंगा। ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि मैं पिछले 10 महींनों से खामोश हूं लेकिन अब पानी सर से ऊपर चला गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here