सोशल मीडिया: ‘BJP विधायक ने कहा- नौकरी नहीं मिलने के कारण युवा रेप कर रहे हैं, चलो ये तो माना कि मोदी रोजगार नहीं दे पाए’

0

हरियाणा के रेवाड़ी में 19 साल की CBSE टॉपर और राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित छात्रा से हुए गैंगरेप मामले में राज्य सरकार के साथ-साथ पुलिस महकमा भी ऐक्शन में आ गया है। पुलिस ने 3 आरोपियों की पहचान कर ली है। पुलिस ने इस मामले में तीन आरोपियों के फोटो जारी किए हैं। बताया जा रहा है कि एक आरोपी सेना में कार्यरत है। इस मामले में आरोपियों की जानकारी देने वालों के लिए पुलिस ने एक लाख रुपये के इनाम का ऐलान भी किया है।

इस बीच छात्रा से गैंगरेप के मामले में विशेष जांच टीम (एसआईटी) ने एक व्यक्ति को कस्टडी में लिया है। ये जानकारी न्यूज एजेंसी एएनआई ने दी है। इससे पहले पीडि़ता की मां ने चेक लौटाने की बात की थी। उन्होंने कहा था कि कल कुछ अधिकारियों ने मुझे चेक दिया था। आज मैं उसे वापस करने जा रही हूं। एएनआई के अनुसार, पीडि़ता की मां ने कहा, ‘हमें न्याय चाहिए और ना कि पैसा। अब पांच दिन हो गए हैं और अभी तक कोई भी आरोपी गिरफ्तार नहीं हो सकता है।

बीजेपी विधायक के बयान पर बवाल

इससे पहले हरियाणा में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की विधायक प्रेमलता ने विवादित बयान देते हुए कहा है कि बेरोजगारी से परेशान एवं हताश होकर युवा दुष्कर्म जैसे अपराध कर रहे हैं। रेवाड़ी की छात्रा के साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म मामले की पृष्ठभूमि में बीजेपी नेता के इस ताजा बयान से विवाद उत्पन्न हो गया है। प्रेमलता ने कहा है कि बेरोजगारी से परेशान और हताश होकर युवा दुष्कर्म जैसे अपराध कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज भी लोगों का महिलाओं के प्रति नजरिया ठीक नहीं है और इसी कारण समाज में इस कदर की गिरावट है।

केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह की पत्नी एवं जींद जिले के उचाना कलां से विधायक प्रेमलता ने शुक्रवार को चौधरी रणबीर सिंह विश्वविद्यालय में एक कार्यक्रम के बाद एक निजी टेलीविजन चैनल से कहा कि इस तरह की घटनाएं बेहद चिंताजनक और दुखद हैं। उन्होंने कहा कि इसके लिए समाज के कुछ वर्ग के लोगों का गंदा नजरिया जिम्मेदार है। इतनी प्रगति के बावजूद महिलाओं के प्रति लोगों का नजरिया नहीं बदला है और इसी कारण से इस तरह की शर्मनाक घटनाएं हो रही हैं।

प्रेमलता ने कहा कि हरियाणा सरकार ऐसे अपराधों को रोकने के लिए कदम उठा रही है। हरियाणा सरकार ने दुष्कर्म के मामले में फांसी के प्रावधान वाला कानून बनाया है लेकिन इसके लागू होने में अभी समय लगेगा। उन्होंने कहा कि इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए समाज के सभी वर्ग के लोगों को सामने आना होगा। प्रेमलता के इस बयान पर विवाद शुरू हो गया है और विपक्ष के नेताओं ने उन पर निशाना साधा है।

सोशल मीडिया पर लोगों ने लगाई तलाड़ 

इस विवादित बयान पर बीजेपी विधायक प्रेमलता की जमकर आलोचना हो रही है। विपक्षी नेताओं के साथ-साथ सोशल मीडिया पर भी लोगों ने उन पर निशाना साधा है। बीजेपी विधायक के इस बयान पर एक युजर ने लिखा है, “युवाओं को नोकरी देने की जिम्मेदारी किसकी है नेहरू की या इमरान खान की, अगर बेरोजगारी से जूझ रहे युवा रेप करते हैं तो देश के लिए बेहद शर्म की बात है”

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here