उन्नाव रेप केस: बीजेपी MLA कुलदीप सिंह सेंगर 7 दिन की सीबीआई रिमांड पर, आरोपी विधायक की महिला सहयोगी भी गिरफ्तार

0

उन्नाव गैंगरेप के मुख्य आरोपी भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को 7 दिन की सीबीआई रिमांड पर भेज दिया गया है। इससे पहले सीबीआई ने उसे कोर्ट में पेश किया था। उन्नाव जिले की बांगरमऊ विधानसभा सीट से बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को शुक्रवार रात गिरफ़्तार किया गया था। खबर है कि कोर्ट ले जाते वक्त आरोपी विधायक ने एक बयान में न्यायालय पर भरोसा जताया है। उधर, सीबीआई ने शशि सिंह नाम की एक महिला को भी गिरफ्तार किया है। शशि सिंह ने पीड़िता को विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के पास कथित तौर पर पहुंचाया था।

(TOI photo/Manoj Chhabra)

पीड़िता की मां ने उत्तर प्रदेश पुलिस को दी गई शिकायत में आरोप लगाया था कि महिला लालच देकर उसकी बेटी को विधायक के पास ले गई, जहां बीजेपी नेता ने उससे कथित बलात्कार किया था। शिकायत में आरोप लगाया गया है कि जब विधायक उसकी बेटी से बलात्कार कर रहा था उस वक्त शशि सिंह गार्ड बनकर कमरे के बाहर खड़ी थी। पीड़िता की मां की शिकायत अब सीबीआई की प्राथमिकी का हिस्सा है।

उधर, कुलदीप सेंगर को शुक्रवार देर रात सीबीआई ने गिरफ्तार किया था। गौरतलब है कि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने शुक्रवार को आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को गिरफ्तार करने का आदेश दिया था। कोर्ट ने कहा था कि आरोपी की हिरासत काफी नहीं है, उसे तुरंत गिरफ्तार किया जाना चाहिए। अदालत ने साथ में राज्य सरकार से 2 मई तक प्रगति रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा था।

गुरुवार को हाईकोर्ट ने इस मामले में आरोपी विधायक के खिलाफ कार्रवाई न होने पर कड़ा रुख अपनाते हुए कहा था कि वह अपने आदेश में राज्य में कानून व्यवस्था चरमराने का जिक्र करने को मजबूर होगी। गौरतलब है कि यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आवास के बाहर रेप पीड़िता महिला और उसके परिजनों ने खुदकुशी की कोशिश की थी। इसके बाद से ही इस मामले ने तूल पकड़ा है।

महिला और उसके परिजनों का आरोप था कि उन्नाव से बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर ने पिछले साल जून में उससे रेप किया था। महिला ने यह भी कहा कि इस मामले में एफआईआर दर्ज करवाने के बाद उन्हें लगातार धमकियां दी जा रही थी। इसके बाद रेप पीड़िता के पिता की पुलिस हिरासत में मौत हो गई थी। मामले में थाना प्रभारी समेत 6 पुलिसवालों को संस्पेंड किया गया था। साथ ही पिटाई के मामले में 4 लोगों को गिरफ़्तार किया गया था।

रेप पीड़िता के पिता की मौत के मामले में पोस्टमार्टम रिपोर्ट से यह साफ हो गया था कि उनकी मौत बेरहमी पिटाई से हुई है। पोस्टमार्टम से साफ हो गया कि मौत बेरहमी से पिटाई और आंत फटने से हुई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक पीड़िता के पिता के शरीर पर भीर चोट के 14 निशान मिले थे। यह पिटाई इतना ज्यादा था जिससे उसकी आंत भी फट गई। रिपोर्ट में मौत की वजह पिटाई से सदमा पहुंचने और सेप्टिसीमिया यानी शरीर में जहर फैलने की बात कही गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here