ग्रेटर नोएडा: केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा के गोद लिए गांव में ग्रामीणों ने लगाई तख्ती, लिखा- BJP वालों का आना सख्त मना है

0

उत्तर प्रदेश में ग्रेटर नोएडा के एक गांव वालों को सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेताओं से इतनी नाराजगी है कि उन्होंने गांव के बाहर एक बोर्ड लगाया है जिसमें भगवा पार्टी के नेताओं को बताया है कि उनको इस गांव में आने की अनुमति नहीं है। यह बोर्ड कथित तौर पर स्थानीय प्रशासन और रियलिटी ग्रुप के कर्मचारियों द्वारा किसानों की तैयार फसल को नष्ट करने के बाद रविवार को लगाया गया है। जिस गांव के बाहर यह बोर्ड लगाया गया है उस गांव को बीजेपी सांसद और केंद्रीय सांस्कृतिक मंत्री महेश शर्मा ने गोद लिया हुआ है।

ग्रेटर नोएडा

ग्रेटर नोएडा के गांव कचैड़ा वसाराबाद गांव के किसानों ने आरोप लगाया था कि स्थानीय प्रशासन ने रियल्टी फर्म के साथ मिलकर हमारे लाखों की फसल बरबाद कर दी है और जब उन्होंने विरोध किया तो उन पर लाठीचार्ज कराया गया। गांव के बाहर एक बोर्ड लगाकर लिखा है कि ‘ग्राम कचैड़ा वसाराबाद गौतमबुद्धनगर, सांसद महेश शर्मा द्वारा गोद लिया गया गांव। बीजेपी वालों का इस गांव में आना मना है- समस्त ग्रामवासी।’

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, कचैड़ा गांव के किसान तेजिंदर नागर ने बताया कि ‘पांच दिन पहले 25-30 खुदाई मशीनों से इन लोगों ने हमारी फसलों को खोद डाला, जो हमने छह महीने पहले बोई थीं। इस पूरे इलाके को 100 से ज्यादा पुलिस वालों ने घेर रखा था, ताकि हम उन्हें रोक न पाएं। जब हमने सवाल पूछा तो हमपर लाठी बरसाई गई।

गांव वालों और इस रियल्टी ग्रुप में काफी लंबा विवाद है। इस ग्रुप ने 2005-2006 में स्थानीय किसानों से जमीन खरीदी थी। ग्रामीणों का कहना है कि कंपनी ने तबसे यहां किसी भी तरह का कोई काम शुरू नहीं किया इसलिए वे यहां पहले की तरह खेती करते रहे। लेकिन इस बार कंपनी वाले अचानक पहुंच गए और उनकी लाखों की फसल बरबाद कर दी। गांव वालों का कहना है कि कंपनी ने उन्हें इसके पहले कोई नोटिस भी नहीं दिया था।

स्थानीय लोगों ने दावा किया कि उन्होंने सांसद महेश शर्मा से संपर्क करने की कोशिश की ताकि इस समस्या को सुलझाया जा सके। लेकिन उनका फोन ऑफ है और किसी चिट्ठी का जवाब नहीं दे रहे हैं, जिसके बाद उन्होंने गुस्से में ये बोर्ड लगाया है। वहीं, बीजेपी नेता महेश शर्मा ने इसे राजनीतिक विरोधियों की साजिश बताया। उन्होंने कहा कि कुछ दिनों के लिए मैं राज्य से बाहर हूं। मैं किसानों के साथ हूं और कुछ ही समय में उनकी सभी समस्याओं को दूर कर दूंगा।

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, महेश शर्मा ने कहा, ‘मैं अपने गांव को अच्छी तरह से जानता हूं। यह एक खास व्यक्ति का काम है, जो राजनीति से प्रेरित है। सपा के एक नेता को हिरासत में लिया गया था। कुछ दिनों के लिए मैं राज्य से बाहर हूं। मैं किसानों के साथ हूं और कुछ ही समय में उनकी सभी समस्याओं को दूर कर दूंगा।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here