केजरीवाल के बयान को गलत तरह से पेश कर रही है भाजपा और मीडिया: सिसोदिया

0

आप नेता मनीष सिसोदिया ने आज आरोप लगाया कि भाजपा और मीडिया ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के बयान में वह शब्द जोड़े, जो उन्होंने नियंत्रण रेखा के पार सेना द्वारा किये गये लक्षित हमले सर्जिकल स्ट्राइक के मुद्दे पर कभी बोले ही नहीं।

केजरीवाल के एक वीडियो संदेश का हवाला देते हुए सिसोदिया ने गोवा में संवाददाताओं से कहा कि आप संयोजक ने कभी ‘सबूत’ शब्द नहीं बोला, बल्कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अभियान की प्रमाणिकता को लेकर पाकिस्तान द्वारा उठाए सवाल को लेकर अंतरराष्ट्रीय मीडिया द्वारा चलाए जा रहे दुष्प्रचार का जवाब देने के लिए कहा था।

Also Read:  'मेजर गोगोई का समर्थन करना भविष्य में भी सेना को इस तरह के कदम उठाने के लिए प्रेरित करेगा'

केजरीवाल ने सोमवार को एक वीडियो संदेश जारी किया था, जिसमें उन्होंने सीमा पार लक्षित हमला करने के लिए प्रधानमंत्री को सलाम करते हुए उनसे पाकिस्तान के दुष्प्रचार को बेनकाब करने का आग्रह किया था।

हालांकि भाजपा ने कल कहा कि उनका बयान सैन्य कार्रवाई के संबंध में साक्ष्य मांगने जैसा है। वहीं आप ने जवाबी हमला करते हुए कहा कि विरोधी दल इस मुद्दे पर राजनीति कर रहा है।

Congress advt 2

भाषा की खबर के अनुसार, सिसोदिया ने कहा, ‘‘हम लोगों ने सिर्फ यह मांग की है कि प्रधानमंत्री को लक्षित हमलों की प्रमाणिकता को लेकर पाकिस्तान की ओर से अंतरराष्ट्रीय मीडिया द्वारा किये जा रहे दुष्प्रचार का माकूल जवाब देना चाहिए। भाजपा और मीडिया ने ‘सबूत’ शब्द जोड़ा है, जो फुटेज में नहीं है।’’

Also Read:  दिल्ली सरकार ने अस्पतालों में 'आग सुरक्षा' ऑडिट का आदेश दिया, भुवनेश्वर कांड के बाद बढ़ी सतर्कता

सिसोदिया ने आगे कहा, ‘‘केजरीवाल की वीडियो फुटेज देखने वाले लोग उनकी तारीफ कर रहे हैं। वीडियो देखने वालों ने कहा कि यह सही है कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मीडिया लक्षित हमलों का मजाक उड़ा रहा है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर दुष्प्रचार किया जा रहा है।’’

Also Read:  ACB summons Manish Sisodia in DCW recruitment scam

उन्होंने कहा कि भारतीय सैनिकों ने जिस प्रकार बहादुरी के साथ नियंत्रण रेखा के पार जाकर आतंकियों का खात्मा किया, उसी तरह भारत सरकार को दुष्प्रचार का जवाब देना चाहिए।

सिसोदिया ने आरोप लगाया, ‘‘पूरी फुटेज में ‘वीडियो’ और ‘सबूत’ जैसे शब्द कहां हैं? वे लोग अपने से इस शब्द को जोड़ रहे हैं।’’

उन्होंने कहा कि दिल्ली, गोवा जैसे स्थान और पूरा भारत सैनिकों की वजह से सुरक्षित हैं, जो सीमा पर हर तरह की मुश्किलों का सामना कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here