राजस्थान: उपचुनाव में करारी हार के बाद वसुंधरा राजे के खिलाफ बगावत के सुर तेज, BJP नेताओं ने अमित शाह से की CM पद से हटाने की मांग

0

राजस्‍थान की दो लोकसभा और एक विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनावों में सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की करारी हार के बाद मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी के खिलाफ पार्टी में बगावत के सुर तेज हो गए हैं। बीजेपी के एक वर्ग ने सीएम वसुंधरा राजे और प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष अशोक परनामी के इस्तीफे की मांग शुरू कर दी है।

Express Photo by Rohit Jain Paras

कोटा जिला ओबीसी सेल के अध्यक्ष अशोक चौधरी ने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को लिखे पत्र में वसुंधरा राजे के इस्तीफे की मांग की है। उन्होंने चुनाव परिणाम के बाद पार्टी कार्यकर्ताओं में भारी असंतोष बताया है। अशोक चौधरी ने शाह को लिखे पत्र में प्रदेश के बीजेपी नेतृत्व को इस करारी हार के लिए जिम्मेदार ठहराया है।

नवभारत टाइम्स के मुताबिक, मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे से इस्तीफे की मांग करते हुए शाह को लिखे पत्र में लिखा है कि इस हार के कारण बीजेपी के कार्यकर्ता मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी से नाराज और हताश हैं। चौधरी ने दो टूक कहा है कि राजे और परनामी पार्टी संगठन को नुकसान पहुंचा रहे हैं। ऐसे में इन पर त्वरित कार्रवाई जरूरी है।

शाह को लिखे पत्र में चौधरी ने सीएम और प्रदेश अध्यक्ष पर पार्टी और कार्यकर्ताओं के हितों को नजरअंदाज करने का भी आरोप लगाया है। इसके साथ ही उन्होंने शाह से राजे और परनामी को उनके पद से हटाकर प्रदेश नेतृत्व में बदलाव की मांग की है। बीजेपी नेता ने कहा है कि आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए एक नई ऊर्जा और उत्साह की पार्टी को जरूरत है। इसके लिए सीएम और प्रदेश अध्यक्ष को उनके पद से हटाया जाए।

दैनिक जागरण के मुताबिक, चौधरी ने कहा कि बीजेपी कार्यकर्ताओं में राज्य नेतृत्व के प्रति असंतोष पैदा होता जा रहा है। पार्टी कार्यकर्ता वसुंधरा राजे के नेतृत्व में काम नहीं करना चाहते हैं, लोगों के मन में पार्टी के प्रति गहरा आक्रोष पैदा होता जा रहा है, लिहाजा वसुंधरा राजे इस्तीफा दे।

जागरण के अनुसार, इससे पहले बीजेपी विधायक घनश्याम तिवाड़ी ने अलवर एवं अजमेर लोकसभा क्षेत्रों एवं मांडलगढ़ विधानसभा सीट पर बीजेपी की हार के लिए मुख्यमंत्री को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा था कि प्रदेश की जनता चार साल के भ्रष्टाचार के शासन से परेशान हो चुकी है। केन्द्रीय नेतृत्व को मुख्यमंत्री को हटाकर नया नेतृत्व लाना चाहिए।

राजस्थान में BJP की करारी हार

बता दें कि राजस्थान और पश्चिम बंगाल की कुल तीन लोकसभा सीटों और दो विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनावों के नतीजे गुरुवार (1 फरवरी) को आ गए। राजस्थान में जहां कांग्रेस ने लोकसभा की दो और विधानसभा की एक सीट पर जीत दर्ज कर ली है वहीं पश्चिम बंगाल की दोनों सीटों पर तृणमूल कांग्रेस ने जीत दर्ज की है।

निर्वाचन आयोग के अनुसार, मांडलगढ़ विधानसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी विवेक धाकड़ को जीत मिली है। धाकड़ ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी भाजपा प्रत्याशी शक्ति सिंह हाडा को 12,976 मतों के अंतर से हराया है। अलवर सीट से कांग्रेस डॉ. करण सिंह यादव ने बीजेपी के जसवंत सिंह यादव को करीब 1,96,496 वोटों के अंतर से हरा दिया।

वहीं अजमेर लोकसभा सीट से कांग्रेस के रघु शर्मा ने राम स्वरूप लांबा को करीब 80 हजार वोटों के अंतर से पराजित कर दिया। पिछले विधानसभा और लोकसभा चुनावों में बेहद बुरी हार देख चुकी कांग्रेस के लिए उपचुनावों में इस तरह का प्रदर्शन संजीवनी का काम करेगी। प्रदेश में इसी साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं, लिहाजा उपचुनाव के परिणाम दोनों दलों के लिए काफी मायने रखते हैं।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here