BJP नेता तरूण विजय ने दक्षिण भारतीयों पर की नस्लीय टिप्पणी, विवाद बढ़ता देख बाद में मांगी माफी

0

अफ्रीकी छात्रों पर हाल में हुए हमलों में भारत का बचाव करते हुए भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) के नेता तरूण विजय ने दक्षिण भारतीयों पर ही नस्लीय टिप्पणी कर डाली। हंगामा बढ़ता देख तरुण विजय को अपने शब्द वापस लेने पड़ गए। दरअसल, एक अंतरराष्ट्रीय मीडिया हाउस से एक बातचीत के दौरान विजय ने कहा कि भारतीयों को नस्ली कहना गलत होगा, क्योंकि अगर ऐसा होता तो हम दक्षिण भारतीयों के साथ कैसे रह पाते, जो काले होते हैं।

सोशल मीडिया पर ट्रोल होने के बाद बीजेपी नेता ने फौरन अपने बयान पर माफी मांगते हुए कहा कि उनके कहने का मतलब यह नहीं था जो समझ लिया गया। शायद वे इन शब्दों में अपनी बातों को ठीक से नहीं कह पाए। उन्होंने कहा कि मैं उन लोगों से झमा चाहता हूं।

मीडिया रिपोर्ट में बताया जा रहा है कि ग्रेटर नोएडा में कुछ दिन पहले दो नाइजीरियाई छात्रों पर हमले को लेकर और भारत में नस्लभेद की समस्या पर अल जजीरा टीवी की बहस में बतौर पैनलिस्ट शामिल हुए विजय ने भारत में नस्लीय समस्या मानने से इनकार करते हुए दक्षिण भारतीयों की तरफ इशारा करते हुए कहा था कि हमारे आसपास कितने काले लोग हैं।

बीजेपी नेता ने कहा कि भारतीय कृष्ण की पूजा करते हैं और अगर हम नस्लभेदी हैं तो दक्षिण भारतीय लोगों के साथ कैसे रहते हैं? हालांकि, लोगों के आक्रोश को देखते हुए विजय ने कहा है कि उन्होंने गलती से भी दक्षिण भारतीयों के लिए काले शब्द का इस्तेमाल नहीं किया है।

ट्विटर पर सफाई देते हुए तरुण विजय ने लिखा कि उनके कहने का मतलब यह था कि ‘हमारे देश के कई हिस्सों में अलग-अलग और विभिन्न रंग के लोग रहते हैं, लेकिन हमने कभी के साथ भेदभाव नहीं किया।’

उन्होंने ट्वीट किया कि मैंने कहा था कि हम कृष्ण की पूजा करते हैं, जिसका मतलब काला होता है। नस्लभेद और रंगभेद का विरोध करने वाले हम पहले थे और हम खुद ब्रिटिश काल में नस्लभेद का शिकार रहे हैं।

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here