मुरादाबाद: BJP नेता की दादागीरी, थाने में घुसकर धारदार हथियार से दरोगा पर किया हमला, वर्दी भी फाड़ने का आरोप

0

उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और डीजीपी सुलखान सिंह की लाख नसीहत के बावजूद राज्य के पार्टी से जुड़े नेताओं की दादागीरी थमने का नाम नहीं ले रही है। एक बार फिर इसकी एक ताजी नजीर यूपी के मुरादाबाद में देखने को मिली है। जहां, अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ कोतवाली पहुंचे बीजेपी नेता पुलिस के सामने हेकड़ी दिखाते रहे और पुलिसकर्मी मूकदर्शक बनी रही। बुधवार(24 मई) को बीजेपी नेता ने थाने में घुसकर सरेआम दरोगा की पिटाई कर दी।मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, मुरादाबाद में बीजेपी नगर अध्यक्ष शिवेंद्र गुप्ता पर आरोप है कि उन्होंने अपने समर्थकों के साथ ठाकुरद्वारा पुलिस स्टेशन में पहुंच कर जमकर हंगामा किया। इतना ही नहीं गुप्ता ने थाने में ही दरोग के साथ मारपीट भी की और वर्दी भी फाड़ दी। साथ ही उन्होंने थाने में सरेआम कैमरे के सामने पुलिसवाले को गोली मारने की भी धमकी दी।

रिपोर्ट के मुताबिक, बीजेपी नेता रिपोर्ट दर्ज कराने थाने गए थे। इसी दौरान दरोगा और उनके बीच कहासुनी हुई। इसके बाद दरोगा को पीटना शुरू कर दिया। इस घटना से थाने में हंगामा हो गया। दरअसल, बीजेपी नेता को किसी अज्ञात शख्स ने फोन के जरिए जान से मारने की धमकी दी थी, जिसे लेकर वे थाने में शिकायत दर्ज कराने पहुंचे थे।

गुप्ता ने इसकी शिकायत थाने में दर्ज कराने आए तो थाना प्रभारी ने अमित शर्मा नाम के दारोगा को जांच का काम दे दिया। दारोगा अमित शर्मा ने कहा कि जिस नंबर से फोन आया है उसकी जांच कर आरोपी का गिरफ्तार किया जाएगा। इस बात पर शिवेंद्र गुप्ता भड़क गए और वह जांच से पहले कार्रवाई चाहते थे।

गुस्से में लाल बीजेपी नेता ने थाने अंदर ही दरोगा अमित शर्मा को पीटने की धमकी दे दी। हालात इतने बदतर हो गए कि शिवेंद्र गुप्ता और उनके तीन-तार साथियों ने दरोगा अमित शर्मा पर थाने के अंदर ही हमला कर दिया। दरोगा की पिटाई करने के साथ ही उनकी वर्दी भी फाड़ दी।

इस दौरान गुप्ता ने थाने में पुलिसकर्मियों से कहा कि अगर दरोगा में दम है तो वह बाहर निकलकर दिखाए। बीजेपी नेता ने दरोगा को तबादले की भी धमकी दी। बीजेपी नेता गुप्ता ने दरोगा से कहा कि तुम जानते नहीं हो क्या कि मैं भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) से हूं।

हालांकि, बीजेपी नेता मारपीट के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि सब इंस्पेक्टर को हमने हाथ भी नहीं लगाया है, बल्कि उन्होंने ही बीजेपी कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट की थी। गुप्ता ने आरोप लगाया कि दरोगा ने वर्दी भी खुद ही फाड़ी थी, ताकि हमपर आरोप लगाया जा सके।मामला यहीं शांत नहीं हुआ। इस हंगामे की जानकारी मिलते ही बीजेपी जिलाध्यक्ष हरिओम शर्मा भी पुलिस थाने पहुंचर हंगामा शुरू किया। पुलिस ने इस मामले में शिवेंद्र शर्मा समेत कई बीजेपी कार्यकर्ताओं के खिलाफ सरकारी अधिकारी पर हमला करने और सरकारी कार्य में बाधा डालने के जुर्म में केस दर्ज उन्हें गिरफ्तार कर लिया। हालांकि, सभी को कुछ देर के बाद थाने से ही जमानत दे दी गई।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here