मेघालय: बीफ बैन पर BJP में घमासान जारी, एक और नेता ने दिया इस्तीफा, कहा- ईसाई विरोधी पार्टी है बीजेपी

0

वध के लिए पशुओं की बिक्री पर प्रतिबंध लगाने और बीफ खाने को लेकर को लेकर चल रहा विवाद बढ़ता ही जा रहा है। कई राज्य इस कानून का विरोध कर रहे हैं। केंद्र सरकार की ओर से काटने के लिए मवेशियों की खरीद-फरोख्त पर बैन लगाने का न सिर्फ विपक्षी पार्टियां विरोध कर रही हैं, बल्कि भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) में भी हंगामा मचा हुआ है।cattle slaughter banजारी कोहराम के बीच मेघालय में बीजेपी को एक और बड़ा झटका लगा है। बीफ बैन के मुद्दे पर एक और बीजेपी नेता ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। नेता ने कहा कि बीजेपी मेरी संस्कृति का अपमान कर रही है। बता दें कि इससे पहले बीफ पार्टी की घोषणा करने वाले नेता बर्नाड मारक ने भी बीफ बैन के मुद्दे पर इस्तीफा दे दिया था।

खबरों के मुताबिक, नए पशु वध कानून के विरोध में मेघालय के नॉर्थ गारो हिल्स जिले के बीजेपी अध्यक्ष बच्चू मारक ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। बाचू का इस्तीफा उस वक्त हुआ है जब चार सप्ताह पहले वेस्ट गारो हिल्स के जिला अध्यक्ष बनार्ड मारक ने इसी मुद्दे पर पार्टी छोड़ दी थी। अब मारक के बीफ पार्टी में भी शामिल होने की संभावना है।

मारक ने कहा कि मैंने बीजेपी से इस्तीफा दे दिया है, क्योंकि वे मेरी संस्कृति का अपमान कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी एक एंटी ईसाई पार्टी है। बीती रात बीजेपी से इस्तीफा देने के बाद बच्चू मारक ने कहा, ‘मैं गारो के लोगों की भावनाओं को लेकर समझौता नहीं कर सकता।

उन्होंने कहा कि एक गारो के तौर पर यह मेरी जिम्मेदारी है कि मैं अपने समुदाय के हित की रक्षा करूं। बीफ खाना हमारी संस्कृति और परंपरा का हिस्सा है। हम पर बीजेपी की गैरकानूनी विचारधारा थोपना स्वीकार नहीं है।’ उन्होंने पार्टी की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष शिबुन लिंगदोह को अपना इस्तीफा सौंप दिया है।

बता दें कि हाल ही में मोदी सरकार के तीन साल पूरे होने के मौके पर बाचू ने गारो हिल्स में बिची (चावल की बीयर) और बीफ पार्टी का प्रस्ताव दिया था, जिसको लेकर पार्टी के नेतृत्व ने आलोचना की थी। साथ ही बीजेपी प्रवक्ता नलिन कोहली ने बाचू के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी थी।

इसके बाद बाचू ने फेसबुक पर अपने इस्तीफे की घोषणा करते हुए कहा था कि, ‘मेरी परंपरा और संस्कृति मेरी पहली प्राथमिकता है और पार्टी सबसे बाद में है। हर बार बीफ ही मुद्दा क्यों, सूअर, मुर्गे-मुर्गियां, बकरी और दूसरे पशु मुद्दा क्यों नहीं हैं।’ बीजेपी से पहले ही इस्तीफा दे चुके बनार्ड मारक 10 जून को तुरा के ईडेन बारी में बीफ पार्टी का आयोजन करेंगे और बाचू के भी इसमें शामिल होने की संभावना है।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here