दिल्ली: विरोध के बावजूद भीड़ के साथ जबरन जामा मस्जिद पर तिरंगा लहराने पहुंचे BJP नेता, मुस्लिमों के संयम से टला सांप्रदायिक दंगा

0

72वें स्वतंत्रता दिवस यानी बुधवार (15 अगस्त) को मुस्लिमों के संयम की वजह से हिंदू-मुसलमानों के बीच सांप्रदायिक हिंसा होते-होते टल गया। दरअसल विरोध के बावजूद भारतीय जनता पार्टी के एक वरिष्ठ BJP नेता ने दिल्ली के जामा मस्जिद में बुधवार को ‘ध्वजारोहण’ किया। बीजेपी नेता इस घटना का वीडियो अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर भी शेयर किया है, जो वायरल हो गया है।

(Source: Twitter/@ipsinghbjp)

दरअसल, बुधवार को जब सारा देश आजादी का जश्न मना रहा था तो इसी बीच बीजेपी नेता आई. पी सिंह अपने समर्थकों और पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ जामा मस्जिद पर जबरन तिरंगा लहराने पहुंच गए। बीजेपी नेता ने कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर जामा मस्जिद में तिरंगा फहराया। इस दौरान जमकर नारेबाजी भी हुई। सोशल मीडिया पर इस घटना का फोटो और वीडियो काफी वायरल हो रहे हैं।

तिरंगा फहराने के बाद अपने ट्वीटर हैंडल से ट्वीट करते हुए आईपी सिंह ने लिखा, “टोका टोकी के बावजूद जामा मस्जिद प्रांगण पर तिरंगा लहरा दिया गया है..शाही इमाम अचानक कहाँ गायब हो गए ये प्रश्न है..फ़िलहाल हमें देश में तिरंगा लहराने के लिए किसी की अनुमति की ज़रूरत नहीं..आज मैंने जामा मस्जिद पर ध्वजारोहण किया, रोके जाने के बावजूद। #MyFlagMyFaith।’

https://twitter.com/ipsinghbjp/status/1029600634742308864?ref_src=twsrc%5Etfw%7Ctwcamp%5Etweetembed%7Ctwterm%5E1029600634742308864&ref_url=https%3A%2F%2Fwww.patrika.com%2Fnew-delhi-news%2Fbjp-leader-ip-singh-enters-jama-masjid-and-forcibly-hoisted-tringa-1-3261100%2F

बीजेपी नेता ने एक अन्य ट्वीट में लिखा, “71 साल बाद जामा मस्जिद की छाती पर चढ़कर हमने कार्यकर्ताओं के साथ राष्ट्रीय ध्वज फहराया। वंदे मातरम्।”

https://twitter.com/ipsinghbjp/status/1029610669002432512?ref_src=twsrc%5Etfw%7Ctwcamp%5Etweetembed%7Ctwterm%5E1029610669002432512&ref_url=https%3A%2F%2Fwww.punjabkesari.in%2Fnational%2Fnews%2Fbjp-leader-who-came-to-hoist-the-forcible-tri-color-at-jama-masjid-856513

बीजेपी नेता और कार्यकर्ताओं द्वारा जामा मस्जिद परिसर में ‘भारत माता की जय’ और ‘वंदे मातरम’ के नारे लगाए गए। वहीं ‘शाही इमाम जिंदाबाद’ के नारे भी लगाए गए। सोशल मीडिया पर बीजेपी नेता के खिलाफ तीखी प्रतिक्रियाएं देखने को मिल रही हैं। स्थानीय विधायक और आम आदमी पार्टी (आप) की नेता ने अलका लांबा ने ट्वीट कर नाराजगी व्यक्त की है।

उन्होंने ट्वीट कर लिखा है, “बेहद दुःख की बात है कि आज कुछ संघी-तिलक-भगवाधारी गुंडे जामा-मस्जिद में घुस कर मुस्लिमों को उकसाने लगे,आरोप की वह आज आज़ादी के जश्न में शामिल नही हुए, मेरी आज की कुछ तस्वीरें साबित करती हैं कि इमाम साहब ने खुद देश के लिये दुआओं में हिस्सा लिया,हर और तिरंगा लहरा रहा था।
सम्भल कर।”

लोग बीजेपी नेता पर माहौल बिगाड़ने का आरोप लगा रहे हैं और जमकर उनकी आलोचना कर रहे हैं। वहीं सोशल मीडिया यूजर्स मुसलमानों की संयम की तारीफ कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि मुस्लिमों के धर्य की वजह से दो समुदायों के बीच सांप्रदायिक हिंसा टल गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here