दिल्ली हिंसा: BJP नेता कपिल मिश्रा बोले- “जिन्होंने कभी बुरहान वानी और अफ़ज़ल गुरु तक को आतंकवादी नहीं माना, वो मुझे आतंकवादी बता रहे हैं”

0

उत्तर पूर्वी दिल्ली में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक पंजीकरण (एनआरसी) को लेकर भड़की साम्प्रदायिक हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही है। बुधवार को सीएए समर्थकों और सीएए विरोधियों के बीच हुई हिंसा में मरने वालों की संख्या बढ़कर 20 पर पहुंच गई है। वहीं, इस साम्प्रदायिक हिंसा में 200 से अधिक लोग घायल बताए जा रहे हैं।

कपिल मिश्रा

उत्तर पूर्व दिल्ली के मौजपुर चौक पर सीएए के समर्थन में भीड़ को संबोधित करते हुए दिए गए अपने भाषण पर उठे विवाद के बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता कपिल मिश्रा ने आक्रामक रुख अख्तियार कर लिया है। इस बीच, कपिल मिश्रा ने बुधवार (26 फरवरी) को विरोधियों पर निशाना साधते हुए एक ट्वीट किया है।

अपने ट्वीट में कपिल मिश्रा ने लिखा, “जिन्होंने कभी बुरहान वानी और अफ़ज़ल गुरु तक को आतंकवादी नहीं माना, वो कपिल मिश्रा को आतंकवादी बता रहे हैं। जो याकूब मेनन, उमर खालिद और शरजील इस्लाम को रिहा करवाने कोर्ट जाते हैं, वो कपिल मिश्रा को गिरफ्तार करने की माँग कर रहे हैं।” कपिल मिश्रा ने अपने ट्वीट ‘जय श्री राम’ भी लिखा है।

वहीं, इससे पहले कपिल मिश्रा ने अपने एक अन्य ट्वीट में लिखा था, “ओवैसी मुझे गाली दे रहा हैं, बरखा, राजदीप, अभिसार, कापड़ी, जावेद अख्तर सब कपिल मिश्रा को गाली दे रहे हैं। मुझे हत्या की धमकियां दी जा रही हैं। मेरा गुनाह हैं कि मैंने आतंक की आंखों में आंख डालकर सच बोलने का साहस किया। आतंकियों से सुहानुभूति रखने वाले मुझसे नफरत कर रहे हैं।”

बता दें कि, भाजपा नेता कपिल मिश्रा के खिलाफ रविवार और सोमवार को दिल्ली में हिसा भड़काने के आरोप में दो मामले दर्ज किए गए हैं। एक शिकायत आम आदमी पार्टी (आप) की कॉर्पोरेटर रेशमा नदीम और दूसरी हसीब उल हसन ने दर्ज कराई है। दर्ज शिकायतों में कहा गया है कि विरोध के दौरान कपिल मिश्रा ने अपने भड़काऊ भाषणों से लोगों को भड़काया, जिससे अराजकता फैल गई।

वहीं, भाजपा सांसद गौतम गंभीर ने दिल्ली हिंसा से पहले भड़काऊ बयान देने वाले और घटना के जिम्मेदार लोगों पर सख्त कार्रवाई करने की मांग की है। गौतम गंभीर ने कहा कि वो चाहें कपिल मिश्रा हों या कोई और हो, चाहे वो किसी भी पार्टी का हो अगर किसी ने भड़काऊ भाषण दिया है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।

बता दें कि, पूर्व AAP विधायक और हाल के दिल्ली विधानसभा चुनाव में मॉडल टाउन से भाजपा के टिकट पर चुनाव हार चुके मिश्रा ने रविवार को जाफराबाद इलाके के मौजपुर चौक में सीएए के समर्थन में सभा को संबोधित किया था जिसके बाद ही दोनों पक्षों के बीच झड़पें शुरू हुईं, जो थमने का नाम नहीं ले रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here