बिहार: तेजस्वी यादव ने मुजफ्फरपुर में 9 मासूम बच्चों की मौत के पीछे BJP नेता का बताया हाथ, CM नीतीश पर भी साधा निशाना

0

बिहार के मुजफ्फरपुर-सीतामढ़ी सड़क मार्ग पर शनिवार(24 फरवरी) को सड़क पार रहें स्कूली बच्चों को एक बोलेरो ने रौंद दी। जिसमें 9 मासूम बच्चों की मौत हो गई, जबकी कई घायल हो गए। वहीं, अब 9 मासूम बच्चों की कुचलकर हुई मौत के मामले में स्थानीय बीजेपी नेता का नाम सामने आ रहा है।

फोटो- @yadavtejashwi

आज तक की ख़बर के मुताबिक, जिस बोलेरो गाड़ी से यह हादसा हुआ वह बीजेपी नेता मनोज बैठा की बताई जा रही है, जो सीतामढ़ी के जिला महामंत्री हैं। मुजफ्फरपुर में शनिवार(24 फरवरी) को बच्चे छुट्टी के बाद स्कूल से घर लौट रहे थे, उसी दौरान सड़क पार करते वक्त बेकाबू बोलेरो ने उन्हें कुचल दिया। इस दर्दनाक हादसे के बाद ड्राइवर मौके पर ही फरार हो गया।

दरअसल, 9 बच्चों की मौत जिस बोलेरो गाड़ी से हुई उसके आगे बीजेपी का बोर्ड लगा हुआ था। जिस पर मनोज बैठा, प्रदेश मंत्री (महादलित मंच) लिखा हुआ है, जिसकी तस्वीर भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। आज तक की ख़बर के मुताबिक, बीजेपी नेता का नाम सामने आने के बाद जिस जगह पर घटना घटी वहां के स्थानीय लोगों ने कहा कि उन्होंने दुर्घटना के वक्त मनोज बैठा को बोलेरो गाड़ी से निकलते देखा था।

ख़बर के मुताबिक, इस दुर्घटना के बाद से ही नेता मनोज बैठा और बोलेरो गाड़ी का ड्राइवर फरार है।वहीं दूसरी और बीजेपी के बड़े नेता इस बात से इनकार किया है कि मनोज बैठा का बीजेपी से कोई भी कनेक्शन है।

आज तक की ख़बर के मुताबिक, पार्टी के उपाध्यक्ष देवेश कुमार ने कहा कि मनोज बैठा नाम का कोई भी व्यक्ति बीजेपी के महादलित मंच का प्रदेश मंत्री नहीं है। अब ये बात सामने आ गई है कि मनोज बैठा बीजेपी का नेता है और वह सीतामढ़ी जिले का महामंत्री है।

 

तेजस्वी यादव शनिवार शाम को ही मृतक मासूमों के परिजनों से मिले और उन्हें सांत्वना दी। तेजस्वी यादव ने आरोप लगाया कि बीजेपी नेता मनोज बैठा और उनका ड्राइवर इस दुर्घटना का जिम्मेदार है। तेजस्वी ने यह भी कहा कि बोलेरो गाड़ी के ड्राइवर ने शराब पी रखी थी, जिसकी वजह से उसकी गाड़ी अनियंत्रित हो गई और इतनी बड़ी दुर्घटना हो गई।

घटना के तुरंत बाद ही बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने जांच का आदेश देते हुए घायल बच्चों का अच्छे से इलाज करने को कहा। इसके अलावा उन्होंने घटना में मरे बच्चों के अभिभावकों को चार-चार लाख रुपए का मुआवजा देने की भी घोषणा की है।

समाजवादी पार्टी के नेता अनिल यादव ने ट्वीट कर लिखा कि, ‘बिहार में भाजपा नेता की गाड़ी से 9 बच्चे मर गए लेकिन दो बड़े चैनलों ने अपनी खबर में ना तो नेता का ज़िक्र किया है और ना ही भाजपा की प्लेट लगी गाड़ी दिखाई है।’ उन्होंने आगे लिखा कि, ‘इतना ही डर लगता है सरकार से तो न्यूज़ चैनल की जगह मनोरंजन चैनल चला लो, वैसे भी एंकर ख़बर से ज्यादा ध्यान लुक्स का रख रहे है’

वहीं, राष्ट्रीय जनता दल(राजद) प्रमुख लालू प्रसाद यादव के बेटे और बिहार के पूर्व उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने घटना को लेकर एक के बाद एक कई ट्वीट किया। अपने इस ट्वीट में उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एवं उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी पर जमकर निशाना साधते हुए कई सवाल पूछा है।

बिहार के पूर्व उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर लिखा कि, ‘नशे में धुत्त बीजेपी के प्रदेश मंत्री ने निर्ममता से 9 मासूम स्कूली बच्चों को कुचल दिया। कहां है नैतिकता के लंबरदार नीतीश कुमार? सुशील मोदी & गैंग आज बिल में छुपी हुई है। इस अति संवेदनशील और मानवीय मुद्दे पर बीजेपी और जदयू ने आज मीडिया को भी बॉयकाट कर दिया। चोर की दाढ़ी में तिनका..’

वहीं, तेजस्वी यादव ने रविवार(25 फरवरी) को ट्वीट कर लिखा कि, ‘मुजफ़्फ़रपुर में 35 बच्चों को रौंदने और 11 बच्चों को दर्दनाक मौत की नींद सुलाने वाले बीजेपी के इस महामंत्री को उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी क्या नहीं जानते? सुशील मोदी और नीतीश कुमार के संरक्षण की वजह से नशे में धुत्त ये नेता और इनका ड्राइवर अभी तक पकड़ा नहीं गया है।’

वहीं, तेजस्वी यादव ने एक अन्य ट्वीट में लिखा कि, ’35 बच्चों को दिनदहाड़े कुचल कर बीजेपी नेता फ़रार है। नीतीश कुमार को इस दर्दनाक हादसे की ज़िम्मेवारी लेनी चाहिए। शराबबंदी के बावजूद उसे शराब कहां से मिली? क्या प्रशासन इतना नकारा है कि उस व्यक्ति को गिरफ़्तार नहीं कर सकता? यही है सुशासनी ढोंग? CM नीतीश Deputy CM मोदी मौन क्यों है?’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here