मध्य प्रदेश: उपचुनाव से पहले BJP को बड़ा झटका, पूर्व मंत्री बालेन्दु शुक्ल कांग्रेस में हुए शामिल

0

पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल होने के बाद विधानसभा के आगामी उपचुनावों के मद्देनज़र कांग्रेस ने मध्य प्रदेश के ग्वालियर क्षेत्र में अपनी पकड़ मजबूत बनाने के उदेश्य से भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मंत्री बालेन्दु शुक्ल को शुक्रवार (5 जून) को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की उपस्थिति में पार्टी में शामिल कर लिया। कहा जा रहा है कि वो ज्योतिरादित्य के भाजपा में शामिल होने से नाराज थे

मध्य प्रदेश

शुक्ला, बसपा और भाजपा से होते हुए वापस कांग्रेस में आए हैं। राजनीति की शुरुआत उन्होंने कांग्रेस से ही की थी और कभी स्वर्गी माधवराव सिंधिया के खास माने जाते थे। वर्ष 1993-98 के बीच प्रदेश में कांग्रेस सरकार में कैबिनेट मंत्री के रूप में बालेन्दु शुक्ल ने कई अहम विभागों के लिये काम किया। पार्टी सूत्रों के अनुसार शुक्ला, पूर्व केन्द्रीय मंत्री स्वर्गीय माधवराव सिंधिया के बचपन के मित्र थे, लेकिन उनके निधन के बाद उनके पुत्र ज्योतिरादित्य सिंधिया के सक्रिय राजनीति में आने के बाद ग्वालियर के पूर्व राजघरानों के निवास में उनका प्रवेश बंद हो गया।

समाचार एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक बालेन्दु शुक्ल ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘भाजपा ने मुझे सम्मान दिया है, लेकिन अब मेरे लिए उस पार्टी में कोई उपयोगिता नहीं है और मेरे कांग्रेस के मित्रों ने मुझे जोर देकर कांग्रेस में वापस आने के लिए कहा। इसके बाद मैंने कांग्रेस में वापसी का फैसला किया है।’’ कांग्रेस के सूत्रों ने बताया कि ज्योतिरादित्य सिंधिया के भाजपा में प्रवेश ने भी शुक्ल के लिए भगवा पार्टी में रहना मुश्किल कर दिया था।

मध्य प्रदेश में विधानसभा के होने वाले 24 सीटों के उपचुनाव में ग्वालियर-चंबल क्षेत्र की 16 सीटें हैं और भाजपा को कड़ी टक्कर देने के लिए कांग्रेस ने शुक्ल को अपने खेमे में शामिल किया है।

हालांकि, भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के करीबी पंकज चतुर्वेदी ने कहा, ‘‘आने वाले उपचुनावों में भाजपा की चुनाव संभावनाओं पर इसका कोई असर नहीं पड़ेगा क्योंकि कांग्रेस के पास कोई प्रभावी नेता नहीं है। इसलिए कांग्रेस उन लोगों को वापस ले रही है जो घर में बेकार बैठे थे। यह कांग्रेस के मानसिक दिवालियेपन को भी दर्शाता है।’’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here