राजस्थान: ऑडियो क्लिप पर सियासत गरमाई, भड़की BJP ने गहलोत सरकार से पूछे सवाल; फोन टेपिंग पर CBI से जांच कराने की मांग की

0

राजस्थान में सरकार को गिराने एवं पार्टी तोड़ने का प्रयास करने के कांग्रेस के आरोपों को खारिज करते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने शनिवार (18 जुलाई) को कहा कि सारा षड्यंत्र उन्हीं के घर में रचा जा रहा था। भाजपा ने गहलोत सरकार से इस मामले को लेकर कई गंभीर सवाल पूछे हैं। पार्टी ने कहा कि संवैधानिक प्रावधानों को ताक पर रखकर फोन टैंपिंग किए जाने सहित विभिन्न प्रकरण की सीबीआई से जांच कराई जानी चाहिए।

राजस्थान

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने शनिवार को प्रेस कांफ्रेंस कर कांग्रेस और राजस्थान की गहलोत सरकार से फोन टैपिंग प्रकरण पर जवाब मांगा। उन्होंने पूछा कि क्या नेताओं का फोन टैप करने के लिए प्रक्रियाओं का पालन किया गया? भाजपा मुख्यालय पर प्रेस कांफ्रेंस करते हुए प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि अशोक गहलोत के मुख्यमंत्री बनने के बाद एक कोल्ड वॉर की स्थिति कांग्रेस पार्टी की सरकार में बनी रही।

कल अशोक गहलोत ने स्वयं मीडिया के सामने आकर कहा है कि 18 महीने से मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री के बीच में वातार्लाप नहीं हो रही थी। पात्रा ने कहा, क्या कांग्रेस सरकार ने राजस्थान में खुद को बचाने के लिए असंवैधानिक तरीका अपना लिया है। क्या जो व्यक्ति राजनीति में हैं, उनके फोन टैप हो रहे हैं?

संबित पात्रा ने कहा कि फोन टैपिंग केवल अधिकृत एजेंसियों की ओर से कानून और विषय के अनुसार सुरक्षा और एसओपी का पालन करते हुए ही किया जा सकता है। केंद्र के मामले में इसकी समीक्षा कैबिनेट सचिव की अध्यक्षता वाली समिति करती है। जबकि राज्य के मामले में स्टेट सेक्रेटरी।

संबित पात्रा ने सवाल उठाते हुए कहा, यह मानते हुए कि आपने फोन टैप किए हैं, क्या एसओपी का पालन किया गया था। राजस्थान के लोग जानना चाहते हैं कि क्या उनकी निजता से समझौता किया गया? ये गंभीर सवाल हैं जो हम राजस्थान कांग्रेस और अशोक गहलोत से पूछना चाहते हैं। क्या फोन टैपिंग की गई थी? कांग्रेस सरकार को जवाब देना चाहिए। क्या यह एक संवेदनशील और कानूनी मुद्दा नहीं है, अगर फोन टैपिंग की गई है।

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि राजस्थान में कांग्रेस का राजनीतिक ड्रामा हम देख रहे हैं। ये षड़यंत्र, झूठ फरेब और कानून को ताक पर रखकर कैसे काम किया जाता है, उसका मिश्रण है। वहां जो राजनीतिक नाटक खेला जा रहा है, वो यही मिश्रण है। उन्होंने कहा, भाजपा इस पूरे प्रकरण का सीबीआई द्वारा जांच की मांग करती है। क्या एसओपी फॉलो हुआ, फोन टेपिंग इत्यादि किया गया? क्या सभी राजनीतिक पार्टी के सभी लोगों के साथ इस प्रकार का व्यवहार किया जा रहा है? इसको लेकर सीबीआई से जांच हो।

गौरतलब है कि राजस्थान में जारी सियासी संकट के बीच ऑडियो क्लिप सामने आया है। इस टेप का हवाला देकर कांग्रेस ने राजस्थान में सरकार गिराने के लिए खरीद फरोख्त की कोशिश होने का आरोप लगाया है। राजस्थान में जारी राजनीतिक रस्साकशी व कांग्रेस विधायकों की खरीद-फरोख्त से जुड़े कथित ऑडियो से केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत का नाम जोड़ने पर भाजपा ने कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला सहित कई कांग्रेस नेताओं के खिलाफ केस दर्ज कराया है। कांग्रेस विधायकों की खरीद-फरोख्त से जुड़े कथित ऑडियो से गजेंद्र सिंह शेखावत का नाम जोड़ने पर भाजपा ने जयपुर के अशोक नगर थाने में शिकायत दर्ज कराई है।

भाजपा प्रवक्ता लक्ष्मीकांत भारद्वाज ने कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद डोटासरा, महेश जोशी, लोकेश शर्मा आदि के खिलाफ साजिश कर कांग्रेस नेताओं के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। भाजपा प्रवक्ता भारद्वाज ने शिकायत में कहा है कि पिछले कुछ दिनों से कांग्रेस नेता, महेश जोशी, रणदीप सुरजेवाल आदि भाजपा की छवि खराब करने के लिए झूठे बयान दे रहे। भाजपा की छवि खराब करने के लिए अशोक गहलोत के मुख्यमंत्री निवास से साजिश रहते हुए एक फेक ऑडियो तैयार किया गया, जिसमें भाजपा के प्रतिष्ठित नेताओं की आवाज होना बताते हुए झूठा फोन वार्तालाप जारी किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here