विधानसभा चुनाव में मिली हार के बाद बीजेपी छत्तीसगढ़ में सभी 10 मौजूदा सांसदों की जगह नए चेहरों को उतारेगी, अलका लांबा ने साधा निशाना

0

केन्द्र की सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने एक बड़ा निर्णय करते हुए आगामी लोकसभा चुनाव में छत्तीसगढ़ के सभी 10 मौजूदा सांसदों की जगह नए चेहरे को उतारने की घोषणा की है। बता दें कि यह फैसला ऐसे समय में किया गया है जबकि पिछले साल राज्य विधानसभा चुनाव में पार्टी को बड़ी हार का सामना करना पड़ा था।

छत्तीसगढ़
file photo

बीजेपी के महासचिव और प्रदेश प्रभारी अनिल जैन ने इसकी घोषणा की। बीजेपी की केंद्रीय चुनाव समिति ने आगामी आम चुनाव के लिए यहां उम्मीदवारों को लेकर विचार विमर्श किया। केंद्रीय समिति में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी के अन्य शीर्ष नेता शामिल हैं। जैन ने संवाददाताओं से कहा, ‘हमने नए उम्मीदवारों और नए उत्साह के साथ चुनाव लड़ने का निर्णय किया है।’

सूत्रों ने बताया कि बीजेपी इस पर भी विचार कर रही है कि मौजूदा सांसदों के परिवार के भी किसी सदस्य चुनाव में नहीं उतारा जाए। पार्टी ने यह मानदंड अपनाया तो पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह की संभावित उम्मीदवारी भी सवालों के घेरे में आ जाएगी, क्योंकि उनके पुत्र अभिषेक सिंह वर्तमान सांसद हैं।

बता दे कि बीजेपी को पिछले साल विधानसभा चुनाव में करारी हार का सामना करना पड़ा था। पार्टी अपना खोया हुआ आधार फिर से पाने का प्रयास कर रही है। विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने राज्य में 68 सीटें जीती थी। राज्य में 15 साल शासन कर चुकी बीजेपी को 15 सीटों से ही संतोष करना पड़ा था। दोनों दलों की वोट हिस्सेदारी में 10 प्रतिशत का अंतर था।

यह ख़बर सामने आने के बाद आम आदमी पार्टी (आप) की नेता व चांदनी चौक से विधायक अलका लांबा बीजेपी पर तंज कसा है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, “यानी पिछले 5 सालों में एक भी बीजेपी के सांसद ने जनता के लिये कुछ नही किया? शाह-मोदी जी से अधिक तो बीजेपी के इन सांसदों पर मुलायम सिंह जी को भरोसा था, जिन्होंने संसद में अपने भाषण में सबको दुबारा जीत कर आने की शुभकामनाएं दें दीं थीं। यहां तो हार के डर से बीजेपी ने सब का टिकट ही काट दिया।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here